Navsatta
खास खबरचर्चा मेंदेशविदेश

भारत और रूस के बीच हुई 2+2 बैठक, कई अहम समझौतों पर हुए दस्तखत

नई दिल्ली,नवसत्ता: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने नई दिल्ली में आज एक बैठक की. इस दौरान भारत और रूस के बीच कई अहम समझौतों पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु ने हस्ताक्षर किए.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु के साथ बैठक के दौरान कहा- भारत और रूस के संबंध बहुपक्षवाद, वैश्विक शांति, समृद्धि और आपसी समझ और विश्वास पर आधारित हैं. रक्षा मंत्री ने कहा कि उभरती भू-राजनीतिक परिस्थितियों में आज वार्षिक भारत-रूस शिखर सम्मेलन एक बार फिर हमारे देशों के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी के महत्व की दर्शाता है.

बताते चलें कि भारत और रूस के बीच भारत-रूस राइफल्स प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से 6,01,427 7.63×39 मिमी असॉल्ट राइफल्स एके-203 की खरीद के लिए अनुबंध, 2021-2031 से सैन्य-तकनीकी सहयोग कार्यक्रम के लिए समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं. इसके साथ ही दोनों देशों के बीच कलाश्निकोव सिरीज के छोटे हथियारों के निर्माण के क्षेत्र में सहयोग पर समझौते में संशोधन पर प्रोटोकॉल दस्तखत हुए.

इस दौरान सिंह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा सहयोग हमारी साझेदारी के सबसे महत्वपूर्ण स्तंभों में से एक है. मुझे उम्मीद है कि भारत-रूस साझेदारी पूरे क्षेत्र में शांति लाएगी और क्षेत्र को स्थिरता प्रदान करेगी. वहीं रूसी रक्षा मंत्री ने कहा, दोनों देशों के बीच संबंधों के लिए रूस-भारत रक्षा सहयोग महत्वपूर्ण है. मुझे विश्वास है कि रूस और भारत क्षेत्रीय सुरक्षा बढ़ाने में मदद करेंगे.

भारत-रूस 2+2 अंतर-मंत्रालयी वार्ता के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीनी अतिक्रमण का मुद्दा उठाया है. राजनाथ सिंह ने अपने बयान में जिस तरह से चीनी अतिक्रमण का मुद्दा रुस के विदेश और रक्षा मंत्रियों के सामने उठाया है, वो अपने आप में बेहद महत्वपूर्ण है. दरअसल, साल 2020 में चीन के दुस्साहस के बाद भारत और उसके उत्तरी पड़ोसी के रिश्तों की तल्खी कम होने का नाम नहीं ले रही है. यह कहना गलत नहीं होगा कि दोनों देशों के बीच शक और अदावत की खाई बढ़ती जा रही है.

उधर, विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि आतंकवाद, हिंसक उग्रवाद की लंबे समय से चली आ रही चुनौतियां नई चुनौतियों में से हैं. गौरतलब है कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर ने रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगु और रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के साथ भारत और रूस के बीच पहली बार 2+2 अंतर-मंत्रालयी वार्ता की.

संबंधित पोस्ट

रिलायंस जियो का इनोविटिव आइडिया–यूजर्स ले सकेंगे ‘इमरजेंसी डाटा लोन’

navsatta

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण से 895 लोगों की गयी जान

navsatta

पहले रामपुरी चाकू के जरिए होता था शोषण, आज दे रहा है सुरक्षा: सीएम योगी

navsatta

Leave a Comment