Navsatta
ऑफ बीटक्षेत्रीयखास खबरचर्चा मेंराजनीतिराज्य

क्या रायबरेली में कायस्थ प्रत्याशी उतारने की तैयारी में है सपा?

राय अभिषेक
रायबरेली, नवसत्ता: रायबरेली सदर कायस्थ बाहुल्य क्षेत्र है और सर्वसमाज का वोट लेने का जो हमारा समीकरण बन रहा है, हमारा प्रयास यही है कि समाजवादी पार्टी सदर विधान सभा से कायस्थ प्रत्याशी उतारे और इस किले को फतह करे.
आगामी विधानसभा चुनाव में हमारी पूरी कोशिश है कि पूर्वांचल में सपा 10 सीटो से कायस्थ प्रत्याशी उतारे जिस पर पार्टी में उच्च स्तर पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है- नवसत्ता के साथ हुई खास बातचीत में यह कथन है समाजवादी शिक्षक संघ के प्रदेश सचिव अनुराग श्रीवास्तव का. योगी सरकार द्वारा कायस्थ समाज को ओबीसी श्रेणी में आरक्षण के प्रस्ताव पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि कायस्थ समाज को आरक्षण की जरूरत नही है और हम इसका विरोध करते है. यदि आपको आरक्षण देना ही है तो श्रेणी बदले बिना और जातीय आधार के बजाय आप आर्थिक आधार पर आरक्षण दीजिये जिससे कि जरूरतमंद को वास्तव में फायदा मिले. यदि प्रदेश सरकार ने हमारी बात नही मानी तो मुंशी प्रेम चंद की जन्मस्थली लमही से दिल्ली में शास्त्री जी की समाधि तक समाजवादी पार्टी रथयात्रा निकाल कर इसका पुरजोर विरोध करेगी.
उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के कार्यकाल को शून्य अंक देते हुए अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश में वास्तव में कानून और स्वास्थ्य व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है. गोरखपुर में कानपुर के व्यापारी की हत्या पुलिस की बर्बरता से हो जाती और आरोपी दरोगा सिर्फ तिलकधारी मुख्यमंत्री के सजातीय होने के कारण 15 दिनो तक नही पकड़ा जाता. इस समय सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष की यात्रा में जो लोग इकट्ठे होते है वो पैसे से नही आ रहे. वे आम लोग है, किसान, मजदूर, शिक्षक, व्यापारी, नौजवान है जो इस योगी सरकार में सर्वत्र फैली अराजकता, अत्याचार और महंगाई से त्रस्त है और समाज का हर वर्ग हमारी तरफ आशा भरी नजरो से देख रहा है.

संबंधित पोस्ट

राष्ट्रपति द्रौपदी को सूरीनाम के सर्वोच्च नागरिक अवॉर्ड से सम्मानित किये जाने पर सीएम ने दी बधाई!

navsatta

रायबरेली में बैंक मैनेजर पर नौकरानी की हत्या का मुकदमा दर्ज

navsatta

गन्ना किसानों ने ब्लॉक किया रेलवे ट्रैक, बकाया भुगतान करने की मांग

navsatta

Leave a Comment