Navsatta
अपराधखास खबरचुनाव समाचारराजनीतिराज्य

दूसरे चरण में भी अपराधियों की भरमार, 33 प्रतिशत उम्मीदवार 5वीं से 12वीं पास

लखनऊ,नवसत्ता: उत्तर प्रदेश इलेक्शन वॉच एसोसिएशन फ़ॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में चुनाव लड़ने वाले 586 में से 584 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया है जो 55 निर्वाचन क्षेत्रों से चुनाव लड़ रहे है. वहीं 2 उम्मीदवारों के शपथपत्र स्पष्ट ना होने के कारण उनका विश्लेषण नहीं किया जा सका.

उम्मीदवारों द्वारा घोषित आपराधिक मामले 584 में से 147 (25 %) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये है. वहीं गंभीर आपराधिक मामले 113 (19 %) है. उम्मीदवारों द्वारा घोषित आपराधिक मामले दलवार इस प्रकार है

समाजवादी पार्टी के 52 में से 35 (67 %), काग्रेस के 54 में से 23 (43% ), बसपा के 55 में से 20 (36 %), बीजेपी के 53 में से 18 (34%), आरएलडी के 3 में से 1 (33 %) और 49 में से 7 (14% ) आप पार्टी के उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषत किये हैं. वही गंभीर आपराधिक मामले दलवार समाजवादी पार्टी 52 में से 25 (48% ), कांग्रेस के 54 में से 16 (30% ), बसपा के 55 में से 15 (27 %), बीजेपी के 53 में से 11 (21% ), आरएलडी के 3 में से 1 (33% ) और 49 में से 6 (12%) आप पार्टी के उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले घोषित किये है.

दूसरे चरण में उम्मीदवारों द्वारा घोषित आपराधिक मामलों में पहले स्थान पर रामपुर से समाजवादी पार्टी के मोहम्मद आज़म खान जिनके ऊपर 87 मामले, दूसरे स्थान पर चमरौआ से समाजवादी पार्टी के नासीर अहमद खान जिनके ऊपर 30 मामले और तीसरे स्थान पर समाजवादी पार्टी के स्वार विधानसभा क्षेत्र से मोहम्मद अब्दुल्लाह आज़म खान है.

6 उम्मीदवारों ने महिलाओं के ऊपर अत्याचार से सम्बन्धित मामले घोषित किये है. 1 उम्मीदवार ने अपने ऊपर हत्या (आईपीसी-302) से सम्बन्धित मामला घोषित किया है. 18 उम्मीदवारों ने अपने ऊपर हत्या का प्रयास (आईपीसी-307) से सम्बन्धित मामले घोषत किये हैं.

वही उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में 55 में से 29 (53 %) संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र है, जहाँ 3 या उससे अधिक उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किये है.

अगर हम करोड़पति उम्मीदवारों कि बात करे तो 584 में से 260 (45 %) दूसरे चरण में करोड़पति उम्मीदवार है. हमारे चुनाव में धनबल की भूमिका इस बात से स्पष्ट होती है कि सभी प्रमुख राजनीतिक दल धनी उम्मीदवारों को टिकट देते है करोड़पति उम्मीदवार दलवार की बात करे तो बीजेपी के 53 में से 52 (98%), समाजवादी पार्टी के 52 में से 48 (92% ), बसपा के 55 में से 46 (84%), आरएलडी के 3 में से 2 (67%), कांग्रेस के 54 में से 31 (57%), और 49 में से 16 (33 %) आप पार्टी के उम्मीदवार करोड़पति हैं. जिनकी घोषित संपत्ति रू 1 करोड़ से ज्यादा है. सबसे ज्यादा संपत्ति घोषित करने वाले शीर्ष 3 उम्मीदवारों में से पहले स्थान में कांग्रेस के रामपुर से उम्मीदवार नवाब काजीम अली खान है. जिन्होने अपनी संपत्ति 296 करोड़ बतायी है. दूसरे स्थान पर बरेली कैन्ट से समाजवादी पार्टी की सुप्रिया एरन है जिनकी संपत्ति 157 करोड़ वहीं तीसरे स्थान पर बीजेपी के अमरोहा से देवेन्द्र नागपाल है जिन्होने अपनी संपत्ति 140 करोड़ बतायी है.

उत्तर प्रदेश चुनाव 2022 के दूसरे चरण में उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति रू 4.11 करोड़ है. वही 256 (44 %) उम्मीदवारों ने अपनी देनदारी घोषित की है.

उत्तर प्रदेश इलेक्शन वाच एसोसिषन फाॅर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण में 193 (33 %) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता 5वीं और 12वीं के बीच घोषित की है. जबकि 305 (52%) उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता स्नातक और इससे ज्यादा घोषित की हैं. 5 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता डिप्लोमा धारक घोषित की हैं वहीं 67 उम्मीदवारों अपनी शैक्षिक योग्यता साक्षर और 12 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता असाक्षर घोषित की है. 2 उम्मीदवारों ने अपनी शैक्षिक योग्यता घोषित नहीं की है.

संबंधित पोस्ट

म्यूजिक वीडियो ‘बेबी दे एक चांस’ की शूटिंग सम्पन्न

navsatta

SC/ST OBC सीटों की चोरी पर UPSC की सफ़ाई बेदम क्यों

Editor

बढ़ती मंहगाई को लेकर केंद्र पर राहुल गांधी का तंज, ‘सबका विनाश, महंगाई का विकास’

navsatta

Leave a Comment