Navsatta
खास खबरराजनीतिराज्य

विनय शंकर तिवारी जल्द थाम सकते हैं सपा का दामन

लखनऊ,नवसत्ता: विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश की सियासत में दल बदलने की क्रम जारी है. इसी बीच पूर्वांचल के बाहुबली और सबसे बड़े ब्राह्मण चेहरे हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर तिवारी समाजवादी पार्टी का दामन थाम सकते हैं. दरअसल पिछले दिनों लखनऊ स्थित जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में हरिशंकर तिवारी के विधायक बेटे ने अखिलेश यादव से मुलाकात की है. माना जा रहा है बसपा से मोहभंग हो चुका है और वे जल्द ही समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं.

जानकारी के मुताबिक दोनों के बीच सकारात्मक बातचीत हुई है. जल्द ही हरिशंकर तिवारी, उनके बेटे कुशल तिवारी और विनय शंकर तिवारी सार्वजानिक मंच से समाजवादी पार्टी का दामन थाम सकते हैं.

बता दें कि पूर्वांचल की सियासत में हरिशंकर तिवारी के परिवार का सपा में जाना न केवल बसपा के लिए झटका होगा, बल्कि बीजेपी के लिए भी चिंता की बड़ी वजह होगी. पूर्वांचल के इस मजबूत ब्राह्मण सियासी परिवार के समाजवादी पार्टी के साथ होने से कई सारे सियासी समीकरण बदलेंगे.
गौरतलब है कि हरिशंकर तिवारी के छोटे बेटे मौजूदा समय में चिल्लूपार विधानसभा सीट से बसपा के विधायक हैं. शनिवार को उन्होंने सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की. जिसके बाद माना जा रहा है कि हरिशंकर तिवारी का कुनबा जल्द ही समाजवादी पार्टी में शामिल होगा.

दरअसल, मौजूदा समय में हरिशंकर तिवारी भले ही राजनीति में एक्टिव न हों, लेकिन उनके हाते से निकला फरमान आज भी सियासी गणित को बदलता रहा है. आज भी पूर्वांचल के बाहुबली और माफियाओं में उनका नाम इज्जत से लिया जाता है.

उत्तर प्रदेश में ठाकुरों और ब्राह्मणों के बीच वर्चस्व की जंग गोरखपुर की जमीन से ही शुरू हुई थी. वीरेंद्र शाही और हरिशंकर तिवारी के बीच की लड़ाई की वजह से ही पूर्वांचल की सियासत में बाहुबलियों के लिए दरवाजे खोल दिए. हरिशंकर तिवारी चिल्लूपार विधानसभा सीट से 6 बार विधायक भी रहे. हालांकि 2007 में उन्हें इस सीट से हार का सामना करना पड़ा. हरिशंकर तिवारी कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह और मुलायम सिंह सरकार में मंत्री भी रहे.

जाहिर है इस ब्राह्मण परिवार का सपा में जाना बसपा के लिए झटका तो होगा ही, साथ ही बीजेपी के लिए भी चुनौती बढ़ेगी, क्योंकि ब्राह्मणों के नाराजगी का मुद्दा योगी सरकार में काफी गरमाया हुआ है.

संबंधित पोस्ट

गृहमंत्री अमित शाह की सुरक्षा में चूक, संदिग्ध व्यक्ति हुआ गिरफ्तार

navsatta

UP Election 2022: ममता बोलीं यूपी में भी खेला होबे, बीजेपी पर किया जमकर प्रहार

navsatta

महिलाओं में चुनाव लड़ने का उत्साह एक अच्छा संकेत

navsatta

Leave a Comment