Navsatta
अपराधखास खबरदेश

नगालैंड में सुरक्षा बलों की फायरिंग से 11 लोगों की मौत के बाद बवाल, होगी एसआईटी जांच

नई दिल्ली,नवसत्ता: पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड में फायरिंग की एक घटना में 11 लोगों के मारे जाने की खबर है. जिसके बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण हो गई. सूत्रों ने बताया कि यह घटना मोन जिले के ओटिंग गांव की है, जहां पीड़ित ग्रामीण एक पिक-अप ट्रक से घर लौट रहे थे. किन्तु सुरक्षाबलों ने आतंकवादी समझकर फायरिंग कर दी जिसमें कई लोगों के मारे जाने की खबर है. इस घटना के बाद लोग गुस्से में आ गए हैं और उन्होंने सुरक्षाबलों की गाड़ियों में आग लगा दी.

घटना का पता तब चला, जब घटना में मारे गए ग्रामीण समय पर अपने घर नहीं पहुंच पाए. समाचार एजेंसी पीटीआई ने फायरिंग में 11 लोगों के मौत की पुष्टि की है. वहीं नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो ने लोगों से शांति की अपील की है और कहा कि घटना की जांच विशेष जांच दल द्वारा की जाएगी.

इस घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री ने आज सुबह ट्वीट किया, मोन के ओटिंग में नागरिकों की हत्या की दुर्भाग्यपूर्ण घटना अत्यंत निंदनीय है. पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी सहानुभूति व्यक्त करता हूं. घायल लोगों के जल्द ठीक होने की कामना करना करता हूं. उच्चस्तरीय एसआईटी मामले की जांच करेगी और कानून के अनुसार न्याय होगा. सभी वर्गों से शांति की अपील करता हूं.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने घटना पर दुखी जताते हुए ट्वीट किया, नागालैंड के मोन के ओटिंग में दुर्भाग्यपूर्ण घटना से दुखी हूं. मैं जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. राज्य सरकार द्वारा गठित उच्च स्तरीय एसआईटी टीम इस घटना की जांच करेगी. ताकि दुखी परिवारों को न्याय दिलाई जा सके.

वहीं रक्षा मंत्रालय ने घटना पर एक बयान जारी करते हुए बताया कि एक जवान की भी मौत हुई है. बयान के मुताबिक, हथियारबंद विद्रोहियों को लेकर मिली पुख्ता खुफिया जानकारी के आधार पर मोन जिले के तिरु इलाके में सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन चलाया था. घटना के बाद स्थिति काफी अफसोसजनक है. लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण मौतों की उच्चस्तर पर जांच की जा रही है और कानून के मुताबिक उचित कार्रवाई की जाएगी. घटना में घायल एक जवान की मौत हो गई.

वहीं भारतीय सेना ने घटना की जांच के लिए कोर्ट ऑफ एन्क्वायरी का ऑर्डर दिया है. सेना ने एक बयान में बताया कि लोगों की मौत के बाद ग्रामीणों द्वारा हिंसा में सुरक्षाबलों के जवान भी घायल हुए हैं. सेना ने कहा कि घात लगाकर किए गए हमले के दौरान लोगों की मौत हुई थी.

राज्य के आईपीएस अधिकारी रूपिन शर्मा ने ट्विटर पर घटना का वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि ओटिंग गांव में कई नागरिकों के मौत की खबर है. हालांकि उन्होंने बाद में वीडियो डिलीट कर दिया. उन्होंने गाडिय़ों में आग की तस्वीरों भी शेयर किया था और लिखा था कि घटना के बाद स्थानीय लोगों ने सुरक्षाबलों की कुछ गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया.

संबंधित पोस्ट

अयोध्या में हनुमानगढ़ी के नागा साधु महंत की सोते समय हत्या

navsatta

हाईकोर्ट का आदेश, बहाल करें शुभेंदु अधिकारी की सुरक्षा

navsatta

न्यायपालिका में महिलाओं की भूमिका को बढ़ाना आवश्यक: राष्ट्रपति कोविंद

navsatta

Leave a Comment