Navsatta
खास खबरचुनाव समाचारदेशराजनीतिराज्य

राजस्थान कैबिनेट में बदलाव पर पायलट खुश, बोले- कमी पूरी हो गई, अब कोई गुट नहीं

जयपुर,नवसत्ता: आखिकार राजस्थान में वह दिन आ ही गया जिसका सचिन पायलट को कई सालों से इंतजार था. आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल का विस्तार होने जा रहा है. जिसमें सचिन पायल के कई हामी विधायकों को जगह दी जा रही है. जिस पर सचिन पायलट ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि, हमारी पार्टी में कोई गुट नहीं है. जो कमी है उसे पूरा किया गया है. 4 दलित चहरों को जगह दी गई है. हमारी सरकार में दलित समाज के लोग को बड़ी संख्या में जगह दी गई है.

पायलट ने कहा कि, पार्टी में गुटबाजी जैसी कोई बात नहीं है. आज सुबह मैं अखबार पढ़ रहा था इस गुट से इतने मंत्री, इस गुट से इतने मंत्री.. उन्होंने साफ किया कि हमारी पार्टी में कोई गुट नहीं है. अमित मालवीय के सवाल पर पायलट ने कहा कि यूपी की बात टिकट देनी की थी.यहां मंत्रिमंडल में 1 से 3 को जगह दी गई है.

सचिन पायलट ने कहा कि, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की सोच को आगे लेकर आए हैं और इसी सोच के मुताबिक हमारी कैबिनेट में तीन महिलाओं को मंत्रिमडल में जगह दी गई है. उन्होंने कहा कि एससी और एसटी से भी मंत्री बनाए गए हैं. पायलट ने मंत्री मंडल विस्तार पर कांग्रेस आलाकमान और राजस्थान के मुख्यमंत्री का धन्यवाद दिया.

नई कैबिनेट के मंत्री व 15 विधायक आज बनेंगे मंत्री
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल में बहुप्रतीक्षित फेरबदल रविवार को होने जा रहा है जिसके तहत 15 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी. शपथ ग्रहण समारोह आज शाम चार बजे होगा जिसमें 11 विधायकों को कैबिनेट और चार को राज्य मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी. राज्य की कांग्रेस सरकार अगले महीने अपने कार्यकाल के तीन साल पूरे करने जा रही है और मंत्रिमंडल में यह पहला फेरबदल है जिसे पार्टी आलाकमान द्वारा क्षेत्रीय व जातीय संतुलन के साथ साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट खेमे को साधने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है.

इन्हें मिली कैबिनेट में जगह
मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी सूची के अनुसार कैबिनेट मंत्री के रूप में हेमाराम चौधरी, महेंद्रजीत मालवीय, रामलाल जाट, महेश जोशी, विश्वेंद्र सिंह, रमेश मीणा, ममता भूपेश, भजनलाल जाटव, टीकाराम जूली, गोविंद राम मेघवाल व शकुंतला रावत को शपथ दिलाई जाएगी. वहीं, विधायक जाहिदा खान, बृजेंद्र ओला, राजेंद्र गुढ़ा व मुरारीलाल मीणा को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी. इनमें ममता भूपेश, भजनलाल जाटव व टीकाराम जूली इस समय राज्यमंत्री हैं. उन्हें पदोन्नत कर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी. इस सूची में हेमाराम चौधरी, मुरारीलाल मीणा व बृजेंद्र ओला सहित पांच विधायकों को पायलट खेमे का माना जाता है.

इसके अलावा पिछले साल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व के खिलाफ बगावती रुख अपनाए जाने के समय पायलट के साथ साथ पद से हटाए गए विश्वेंद्र सिंह व रमेश मीणा को फिर से मंत्रिमंडल में शामिल किया जा रहा है. जबकि बहुजन समाज पार्टी (बसपा) से कांग्रेस में आए छह विधायकों में से राजेंद्र गुढ़ा को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई जाएगी.

मुख्यमंत्री गहलोत शनिवार रात राजभवन में राज्यपाल कलराज मिश्र से मिले और अपने कैबिनेट मंत्री रघु शर्मा, हरीश चौधरी और राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के इस्तीफे उन्हें सौंपे जिन्हें उन्होंने स्वीकार कर लिया. इन तीनों मंत्रियों ने संगठन में काम करने की मंशा के साथ अपने इस्तीफे पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिए थे.

संबंधित पोस्ट

बापू का स्वदेशी आंदोलन ही आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना का आधार : योगी

navsatta

मुठभेड़ में शहीद जवानों की संख्या बढ़ने की आशंका

navsatta

शाहजहांपुर में बोले सीएम योगी- पहले सिर्फ सैफई खानदान और आजम के लिए बिजली थी

navsatta

Leave a Comment