Navsatta
खास खबरचर्चा मेंचुनाव समाचारदेशराजनीतिराज्य

सोनिया गांधी की मुहर के बाद भी अंबिका सोनी ने ठुकराया सीएम का पद

चण्डीगढ़,नवसत्ता : कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद पंजाब के अगले मुख्यमंत्री के रूप में अंबिका सोनी का नाम सबसे आगे चल रहा था. यहां तक कि कांग्रेस हाईकमान सोनिया गांधी ने अंबिका सोनी के नाम की सहमति भी जताई थी. लेकिन खुद अंबिका ने अपनी उम्र और सेहत के चलते सीएम के पद का ऑफर ठुकरा दिया है.

दरअसल, शनिवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. पंजाब में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शनिवार को एक प्रस्ताव पारित कर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से आग्रह किया गया था कि वह विधायक दल के अगले नेता के बारे फैसला करें.

जिस पर पार्टी हाईकमान सोनिया गांधी ने आज सुबह अंबिका सोनी का नाम पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर आगे किया था. हालांकि, सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अंबिका सोनी ने पंजाब के मुख्यमंत्री की दौड़ से खुद को बाहर रखने का फैसला किया है. इस बीच, चंडीगढ़ में पंजाब के नए सीएम की घोषणा पर कांग्रेस विधायक सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि अगले 2-3 घंटे में फैसला लिया जाएगा. वहीं पार्टी ने साफ कर दिया है कि पंजाब का मुख्यमंत्री आलाकमान द्वारा आज ही चुन लिया जाएगा.

सूत्रों के मुताबिक, ऐसी खबरें भी आईं कि अंबिका सोनी को लेने के लिए सीएम ऑफिस का हेलीकॉप्टर रवाना हो गया है. लेकिन अंबिका सोनी के सीएम बनने से इनकार करने के साथ ही ये कयास भी खत्म होते दिख रहे हैं. हालांकि आलाकमान उन्हें मनाने की कोशिश भी कर सकता है. जानकारी के मुताबिक केंद्रीय पर्यवेक्षकों को सिद्धू खेमे के विरोध से निपटने के निर्देश दिए गए हैं. इस बीच खबर है कि नवजोत सिंह सिद्धू का खेमा विधायक दल की बैठक बुलाई जाने की मांग कर रहे हैं.

इधर, सूत्रों से जानकारी मिली है कि अंबिका सोनी के नाम को पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर तय करने के फैसले के साथ ही कांग्रेस ने आज होने वाली विधायक दल की बैठक को भी रद्द कर दिया है. हालांकि, सूत्रों के मुताबिक अंबिका सोनी ने सेहत का हवाला देकर सीएम बनने के ऑफर को ठुकरा दिया है. हालांकि, स्वास्थ्य कारणों के अलावा वो पंजाब कांग्रेस में मचे घमासान से भी आहत बताई जा रही हैं. अंबिका सोनी को कैप्टन के खेमे का नेता बताया जाता है.

रावत का कहना है कि, ‘कांग्रेस में यह परंपरा रही है कि कांग्रेस अध्यक्ष को नया नेता चुनने के लिए अधिकृत किया जाए. पंजाब के हमारे विधायक दल ने भी इसी परंपरा का अनुसरण करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष से आग्रह किया कि वह नये नेता का फैसला करें. कांग्रेस अध्यक्ष जिसे भी नेता चुनेंगी, वह सबको स्वीकार होगा.’ वहीं, माकन ने कहा कि विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के कुल 80 में से 78 विधायक मौजूद थे और मुख्यमंत्री के लिए इसमें किसी नाम पर चर्चा नहीं की गई.

संबंधित पोस्ट

अगले माह यूपी को मिलेगा पहले डेटा सेंटर पार्क का उपहार

navsatta

जारी हुए टेलीमेडिसिन सेवा के लिए चिकित्सकों के मोबाइल नम्बर

navsatta

कांग्रेसियों ने नगर में किया सैनिटाइज़ेशन, नालियों में किया दवा का छिड़काव

navsatta

Leave a Comment