Navsatta
खास खबरदेशराज्य

दिल्ली में बारिश ने तोड़ा 46 सालों का रिकॉर्ड, आईजीआई एयरपोर्ट पर तैरते दिखे विमान

नई दिल्ली,नवसत्ता : दिल्ली में रिकॉर्ड तोड़ बारिश से कई इलाके जलमग्न हो गये। इससे सड़कों पर वाहनों की रफ्तार थम गई। बारिश के चलते इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के कुछ हिस्सों में पानी भर गया है। भारतीय मौसम विभाग ने दिल्ली में गरज के साथ भारी से अति भारी बारिश की संभावना जताई थी। इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल-3 पर जलभराव हुआ। यहां फ्लाइट पानी में डूबी नजर आई। मौसम विभाग ने दिल्ली में आज के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी कर दिया है।
वहीं एयरपोर्ट प्रशासन ने भारी बारिश से हुए जलभराव पर कहा कि, लोगों को हुई असुविधा के लिए खेद है। प्रशासन का कहना है कि अचानक हुई भारी बारिश के कारण कुछ देर के लिए एयरपोर्ट के परिसर में जलभराव हो गया। थोड़ी देर बाद ही जलभराव की समस्या को सुलझा लिया गया।

खास बात यह है कि दिल्ली में मानसून के 19 साल में सबसे देर से 13 जुलाई को दस्तक देने के बावजूद राजधानी में उस महीने 16 दिन बारिश दर्ज की गयी थी जो पिछले चार वर्षों में सबसे अधिक है। दिल्ली में बारिश के दिनों में 507.1 मिमी बारिश हुई जो औसत से तकरीबन 141 प्रतिशत अधिक है। जुलाई 2003 के बाद से यह इस महीने में हुई सबसे अधिक बारिश है। वहीं दिल्ली में रिकॉर्ड तोड़ बारिश के बाद तापमान में गिरावट आई और न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग का कहना है कि, दिल्ली में आज सुबह हुई भारी बारिश पिछले 46 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। आईएमडी के अधिकारियों ने कहा कि आज सुबह भारी बारिश के साथ, भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के सफदरजंग वेधशाला ने इस मानसून के मौसम में कुल 1,100 मिमी बारिश दर्ज की, 2003 में 1,050 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटों में शहर में 97 मिलीमीटर बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों ने दिन में आंशिक रूप से बादल छाए रहने के साथ ही मध्यम बारिश और गरज के साथ छीटें पडऩे का अनुमान जताया है। शहर में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की भी संभावना है। अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।
दिल्ली में इस महीने की शुरुआत में लगातार दो दिन 100 मिलीमीटर से अधिक की बारिश दर्ज की गयी थी। एक सितंबर को 112.1 मिलीमीटर और दो सितंबर को 117.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी। अभी तक दिल्ली में इस महीने 248.9 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सितंबर के लिए 129.8 मिलीमीटर की औसत बारिश से कहीं अधिक है।

दिल्ली में आज सुबह भारी बारिश से मोती बाग और आरके पुरम समेत शहर के कई हिस्सों से जलभराव की खबरें आयी हैं। नगर निकायों के अनुसार, मोती बाग और आरके पुरम के अलावा मधु विहार, हरी नगर, रोहतक रोड, बदरपुर, सोम विहार, आईपी स्टेशन के समीप रिंग रोड, विकास मार्ग, संगम विहार, महरौली-बदरपुर रोड, पुल प्रह्लादपुर अंडरपास, मुनीरका, राजपुर खुर्द, नांगलोई और किराड़ी समेत अन्य मार्गों पर भी जलभराव देखा गया।
लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों ने बताया कि सड़कों से पानी की निकासी के लिए कर्मी काम कर रहे हैं। हम प्राथमिकता के आधार पर इस समस्या से निपट रहे हैं। हमारे कर्मचारी स्थिति पर चौबीसों घंटे निगरानी रख रहे हैं।’

संबंधित पोस्ट

मातृशक्ति की ऐतिहासिक उपलब्धि है अंतिम पंघाल की जीत : सीएम योगी

navsatta

वृंदावन का अद्भुत मंदिर : जहां श्रीकृष्ण बन गए थे श्रीराम

navsatta

डीएम और एसएसपी को जिले स्‍तर पर ही निपटानी होगी व्‍यापारियों की समस्‍याएं, सीएम ने दिए निर्देश

navsatta

Leave a Comment