Navsatta
खास खबर

प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव ने शहंशाहपुर स्थित बायो कंप्रेस्ड प्लांट का किया निरीक्षण

वाराणसी,(नवसत्ता):- स्थानीय किसानों ने उन्हें बताया कि प्लांट से मिलने वाले खाद से जहां उनकी उर्वरकों पर निर्भरता कम हो गई है गोबर बिक्री से आमदनी के स्रोत उपलब्ध हुए हैं । वहीं ऑटो चालकों ने बताया कि गैस के उपयोग से उनके वाहनों का माइलेज 10% बढ़ गया है! प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव प्रमोद कुमार मिश्र ने शहंशाहपुर स्थित अदाणी समूह द्वारा संचालित बायो कंप्रेस्ड प्लांट का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने जहाँ प्लांट में वृक्षारोपण भी किया वहीं स्थानीय किसानों और आटो चालकों से प्लांट से मिलने वाले लाभ पर भी विस्तृत चर्चा की।

स्थानीय किसानों ने उन्हें बताया कि प्लांट से मिलने वाले खाद से जहां उनकी उर्वरकों पर निर्भरता कम हो गई है गोबर बिक्री से आमदनी के स्रोत उपलब्ध हुए हैं। वहीं आटो चालकों ने बताया कि गैस के उपयोग से उनके वाहनों का माईलेज 10% बढ़ गया है प्रधान सचिव प्रमोद कुमार मिश्रा ने गुरुवार को शाहजहां पर स्थित भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान (आईआईवीआर) के 33वें स्थापना दिवस पर आयोजित कृषि संगोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। इस दौरान प्रधान सचिव ने कहा कि सब्जी की खेती को रोजगार पर बनाने की जरूरत है इससे खेती में विविधता आएगी और किसान अपनी कमाई बढ़ा सकते हैं। पारंपरिक खेती के साथ किसान निधि में विचार करें।

जलवायु परिवर्तन आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस उत्पादों का ज्यादा मूल्य व खाद प्रसंस्करण जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर शोध समय की मांग है। डॉक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा ने संस्थान के शोध कार्यों की सराहना की और कहां की देश की सब्जी उत्पादन परिदृश्य में आईआईवीआर की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। प्रमुख सचिव ने शाहजहांपुर स्थित कंप्रेस्ड बायोगैस प्लांट का निरीक्षण और आई आईवीआर हाईटेक नर्सरी का शुभारंभ किया।

संबंधित पोस्ट

President Election: राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेंगे उद्धव ठाकरे

navsatta

लखनऊ ही नहीं रायबरेली का सीएमओ भी फेल है,शहर से सटी सीएचसी के हालात से समझिए

navsatta

आइए साथ मिलकर बनाएं नए भारत का नया उत्तर प्रदेशः मुख्यमंत्री योगी

navsatta

Leave a Comment