Navsatta
खास खबरचर्चा मेंदेशमुख्य समाचारराजनीतिविदेश

स्वास्थ्य, शिक्षा व पोषण के क्षेत्र में यूनिसेफ से मिला सकारात्मक सहयोग: मुख्यमंत्री

लखनऊ,नवसत्ताः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मंगलवार को सुश्री सिंथिया मैकैफ्री, प्रतिनिधि, यूनिसेफ, भारत देश कार्यालय ने शिष्टाचार भेंट की। मुख्यमंत्री आवास पर हुई इस भेंट के दौरान प्रदेश में स्वास्थ्य, शिक्षा एवं पोषण के क्षेत्र में यूनिसेफ के सहयोग से जारी कार्यक्रमों की अद्यतन स्थिति पर चर्चा हुई, साथ ही भावी कार्यक्रमों पर भी विमर्श हुआ। सिंथिया ने कहा कि यूनिसेफ इंडिया उत्तर प्रदेश के सामाजिक स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला एवं बाल पोषण के क्षेत्र में राज्य सरकार के सहयोग से अनेक कार्यक्रमों को आगे बढ़ा रही है। आकांक्षात्मक जनपदों में भी यूनिसेफ स्थानीय प्रशासन का सहयोग कर रही है। उन्होंने कहा कि यूनिसेफ निकट भविष्य में नए कार्यक्रमों के लिए भी उत्तर प्रदेश सरकार को तकनीकी एवं अकादमिक सहयोग देने को तत्पर है।

सामाजिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मार्गदर्शन में जारी प्रयासों की सराहना करते हुए सुश्री सिंथिया ने कहा कि विगत छह वर्ष में प्रदेश में मातृ मृत्यु दर, शिशु मृत्यु और नवजात मृत्यु दर में उल्लेखनीय गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि नियोजित प्रयासों से आज सुदूर गांवों तक स्वास्थ्य सेवाओं की उपलब्धता बढ़ी है, जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिसके अच्छे नतीजे मिल रहे हैं। उत्तर प्रदेश की यह सफलता प्रेरक है। सिंथिया ने जापानी इंसेफेलाइटिस के उन्मूलन के लिए मुख्यमंत्री द्वारा अपनाई गई रणनीति को शानदार मॉडल बताया। उन्होंने कहा कि दशकों तक प्रदेश के 38 जनपदों में मासूम बच्चों के असमय काल-कवलित होने का कारण रही इस बीमारी पर रोकथाम लगाने में उत्तर प्रदेश सरकार ने सफलता पाई है। यह बेहतरीन उपलब्धि है।

यूनिसेफ की भारत प्रतिनिधि सिंथिया ने उत्तर प्रदेश जैसे सघन जनसंख्या वाले विशाल राज्य में कोविड नियंत्रण के लिए अपनाई गए रणनीति को अनुकरणीय कहा। विभिन्न देशों के कोविड प्रबंधन की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यूपी की सघन जनसंख्या घनत्व और विविध सामाजिक चुनौतियों का सामना यहां के नेतृत्व ने जिस प्रकार किया, वह अत्यंत सराहनीय है। यूपी ने कोविड मैनेजमेंट का बेहतरीन मॉडल प्रस्तुत किया है।

सिंथिया ने उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा, सम्मान और स्वावलंबन की दिशा में मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में किए जा रहे प्रयासों, विशेषकर ‘मिशन शक्ति’ को प्रभावशाली बताते हुए प्रदेश में महिला उद्यमिता के प्रोत्साहन की नीतियों की भी सराहना की। उत्तर प्रदेश आगमन पर यूनिसेफ प्रतिनिधि का अभिनंदन करते हुए मुख्यमंत्री जी ने इंसेफेलाइटिस सहित विभिन्न जल जनित बीमारियों, कोविड प्रबंधन सहित लोक स्वास्थ्य के क्षेत्र में यूनिसेफ से मिल रहे सहयोग की प्रशंसा करते हुए परस्पर सहयोग से आगे भी ऐसे प्रयास किये जाने के प्रस्ताव पर हर्ष प्रकट किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने हाल के वर्षों में स्वास्थ्य और पोषण के क्षेत्र में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त की है। 40 साल से मासूम बच्चों के असमय काल कवलित होने का कारण बनी रही इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से मृत्यु को 95% तक नियंत्रित कर लिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश में अभी बहुत कुछ किया जाना शेष है। हम एक जिला-एक उत्पाद योजना की तर्ज पर एक जिला-एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना कर रहे हैं।

संबंधित पोस्ट

कैप्टन की पार्टी ‘पंजाब लोक कांग्रेस’ का चंडीगढ़ में खुला ऑफिस

navsatta

आज़मगढ़ में पचास से अधिक शिक्षक बेसिक शिक्षा विभाग के रडार पर,फ़र्ज़ी दस्तावेज़ लगाकर कर रहे हैं नौकरी

navsatta

सिडबी ने मनाया विश्व एमएसएमई दिवस, स्वालंबन चेयर की स्थापना

navsatta

Leave a Comment