Navsatta
खास खबरचर्चा में

पाकिस्तान ने श्रीनगर से शारजाह की फ्लाइट पर जताया ऐतराज, अपने एयरस्पेस से उड़ने पर लगाई रोक

इस्लामाबाद,नवसत्ता : पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से यूएई के शारजाह तक फ्लाइट के लिए अपने एयरस्पेस का इस्तेमाल करने देने से इनकार कर दिया है. इसका सीधा अर्थ है कि अब श्रीनगर से उड़ने वाले विमानों को उदयपुर, अहमदाबाद और ओमान होते हुए शारजाह जाना होगा, जो कि न सिर्फ ज्यादा समय लेगा बल्कि इसके लिए यात्रियों को ज्यादा पैसे भी खर्च करने पड़ेंगे.

सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान ने उड़ानों को अपने क्षेत्र से गुजरने के लिए मना कर सीधे-सीधे अंतरराष्ट्रीय उड़ान मानदंडों का उल्लंघन किया है. आपको जानकारी हो कि श्रीनगर से शारजाह के लिए शुरू की गई इस हवाई सेवा का सबसे अधिक लाभ कश्मीर के लोगों को हो रहा था. पाकिस्तान के इस फैसले की वजह से अब श्रीनगर से शारजाह के लिए जाने वाले विमान को एक घंटे का अतिरिक्त समय लगेगा, साथ ही इसका किराया भी बढ़ जाएगा.
पाकिस्तान के इस फैसले की जानकारी संबंधित मंत्रालयों को मिल गई है. फिलहाल नागरिक उड्डयन, विदेश और गृह मंत्रालय इसको देख रहे हैं. पाकिस्तान के इस निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘पाकिस्तान ने साल 2009-10 में भी ठीक ऐसा ही किया था, जब एयर इंडिया एक्सप्रेस की श्रीनगर से दुबई जाने वाली उड़ान के लिए अपने एयरस्पेस का इस्तेमाल नहीं करने दिया था. मुझे उम्मीद थी कि गो फस्र्ट के विमान को पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से उड़ने की अनुमति दी जा रही है. यह दोनों देशों के ठंडे पड़े रिश्तों के लिए अच्छा संकेत था, लेकिन अफसोस ऐसा नहीं हुआ.’

यह विवाद गृहमंत्री अमित शाह द्वारा 23 अक्टूबर को जम्मू-श्रीनगर दौरे के वक्त इस हवाई सेवा का शुभारंभ करने के साथ ही शुरू हो गया था. हालांकि विवाद के बीच भी श्रीनगर-शारजाह के बीच चार उड़ानें भरी गई.

दरअसल पाकिस्तान इस बात से खफा था कि भारत सरकार और दुबई के बीच समझौते के बाद श्रीनगर-शारजाह हवाई सेवा सीधे तौर पर शुरू कर दी जबकि पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने से पहले पाकिस्तानी प्रशासन से अनुमति इसकी नहीं ली गई. भारत सरकार ने यह हवाई सेवा एयरलाइन गो फस्र्ट के सहयोग शुरू की है. गो फस्र्ट श्रीनगर-शारजाह के बीच एक सप्ताह में चार फ्लाइट्स का संचालन कर रही है.

संबंधित पोस्ट

लुधियाना: झोपड़ी में लगी भीषण आग, एक ही परिवार के सात लोग जिंदा जले

navsatta

इंसेफ्लाइटिस की तर्ज पर कैंसर से भी लड़ने की तैयारी में योगी सरकार

navsatta

रायबरेली में अब तक 40 गुरुजनों की बलि ले चुका पंचायत चुनाव

navsatta

Leave a Comment