Navsatta
खास खबरचर्चा मेंराज्य

लखीमपुर हिंसा: योगी सरकार ने किया ऐलान, मृतकों के परिजनों को मिलेंगे 45-45 लाख व सरकारी नौकरी

किसान नेताओं और सरकार के बीच हुआ समझौता, दोषियों की 8 दिन में होगी गिरफ्तारी पूरे घटना की होगी न्यायिक जांच

लखनऊ, नवसत्ता: यूपी के लखीमपुर में किसानों और मंत्री के बेटे के बीच टकराव के बाद हुई हिंसक घटना में आठ लोगों की मौत से प्रदेशभर में बवाल जारी है. कृषि कानूनों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बयान का विरोध कर रहे किसानों और मंत्री के बेटे के बीच रविवार को हिंसक टकराव पैदा हुआ. घटना में आठ लोगों की मौत हो गई. इस बीच कांग्रेस नेता लखीमपुर जाने का प्रयास कर रहीं प्रियंका गांधी को सीतापुर में रोककर हिरासत में ले लिया गया है. इसके अलावा किसान नेता राकेश टिकैत लखीमपुर पहुंच गए हैं. घटना के विरोध में देशभर में किसानों का प्रदर्शन हो रहा है.
पीड़ित परिवारों को 45 लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी देगी सरकार

किसानों और प्रशासन के बीच लखीमपुर हिंसा को लेकर चल रही बातचीत में दोनों पक्षों में सुलह की खबर है. किसानों की मांग प्रशासन ने मांग ली है. सरकार ने ऐलान किया कि लखीमपुर मामले में किसानों और अधिकारियों के बीच वार्ता के बाद समझौता हो गया है. सरकार ने घोषणा करते हुए कहा कि मृतकों के परिजनों को 45-45 लाख दिये जायेंगे.घायलों को 10 लाख दिये जायेंगे. इसके अलावा मृतक आश्रितों को नौकरी दी जायेगी. एडीजी प्रशांत कुमार ने 8 दिन के अन्दर दोषियों की गिरफ्तारी का भरोसा दिया है.एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया है कि दोषियों के खिलाफ केस दर्ज हो गया है, जांच जारी है. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र बोले- न मैं और न ही मेरा बेटा घटनास्थल पर थे
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र ने कहा है कि न ही वो न ही उनका बेटा घटनास्थल पर मौजूद थे. मामले में जांच से सब सच सामने आ जाएगा. इस तरह की घटना से हमें फंसाने का प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत अराजकता फैलाने का प्रयास कर रहे हैं. किसानों के बीच में कुछ उपद्रवी घुस आए जिन्होंने पूरी घटना को अंजाम दिया. अजय मिश्र ने कहा कि हमारा कार्यक्रम स्थल और घटनास्थल तीन-चार किलोमीटर दूर थे. हमारे कार्यकर्ताओं को लाठी-डंडों से पीटा गया.
प्रियंका की रिहाई की मांग के साथ कांग्रेस ने दी देशव्यापी आंदोलन की चेतावनी
लखीमपुर हिंसा के विरोध में कांग्रेस ने देशव्यापी आंदोलन करने का ऐलान किया है. कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि, कांग्रेस पार्टी माँग करती है कि प्रियंका गांधी को तुरंत रिहा किया जाए और पीड़ित पक्ष से मिलने जाने दिया जाए. कांग्रेस ने योगी सरकार से गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त कर और उनके बेटे को गिरफ्तार करने की मांग की. राजीव शुक्ला ने कहा कि, जिन लोगों की मौतें हुई हैं उसकी भी जाँच किया जाए. पार्टी नेतृत्व की तरफ़ से निर्देश जारी किए गए है पूरे देश में डीएम ऑफिस का घेराव किया जाएगा. पूरा देश किसानों के साथ है और कांग्रेस इसे लेकर देश व्यापी आंदोलन करेगी. कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि, सीएम के जहाज भी उतरने से रोका जा रहा है. विपक्ष के नेताओं को जाने नहीं दिया जा रहा. राजीव शुक्ला ने कहा कि हमारी सरकार भी थी हमने तो बजाए उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के कभी भी किसी भी विपक्ष को नहीं रोका.

संबंधित पोस्ट

गौतम अडाणी की छह में से चार कंपनियों में लगा लोअर सर्किट

navsatta

नतीजों के बाद अब ब्लॉक प्रमुख चुनाव पर टिकी नजर

navsatta

बोर्ड परीक्षा की तैयारीः केंद्र व्यवस्थापकों को मास्टर्स ट्रेनर दे रहे प्रशिक्षण

navsatta

Leave a Comment