Navsatta
खास खबरदेशराजनीतिराज्य

प्रधानमंत्री ने एनआईबीएसटी कैंपस का किया उद्घाटन, कहा- कृषि और विज्ञान के तालमेल का बढ़ना जरूरी

नई दिल्ली,नवसत्ता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज छत्तीसगढ़ के रायपुर में ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटिक स्ट्रेस टॉलरेंस’ के नवनिर्मित परिसर का उद्घाटन किया. पीएम मोदी ने इस कार्यक्रम में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया. साथ ही उन्होंने जलवायु के अनुकूल प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए जागरुकता फैलाने के मकसद से 35 फसलों की विशेष किस्मों को राष्ट्र को समर्पित किया.

प्रधनमंत्री ने कृषि विश्वविद्यालयों को हरित परिसर पुरस्कार भी प्रदान किया और नवाचार संबंधी तरीकों का इस्तेमाल करने वाले किसानों से संवाद किया. फसलों की विशेष किस्में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा विकसित की गई हैं ताकि जलवायु परिवर्तन और कुपोषण की दोहरी चुनौतियों से निपटा जा सके. पीएमओ ने कहा कि 2021 में ऐसी 35 किस्में विकसित की गई हैं.

जानिए विशेष किस्म वाली 35 फसलों की विशेषताएं?
पीएम मोदी द्वारा पेश की गई 35 नई फसलों की वैराएटी की बात करें तो, इस लिस्ट में चने की ऐसी फसल भी रहने वाली है जो आसानी से सूखे की मार झेल सकती है. इसके अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता वाला चावल भी तैयार किया गया है. अरहर की पैदावार बढ़़ाने के लिए रोग प्रतिरोधी फसल को भी शामिल किया गया है. जल्दी पकने वाली किस्म और रोग प्रतिरोधक क्षमता वाला चावल भी विकसित किया गया है. इसके अलावा बाजरा, मक्का, कुट्टू जैसी फसलों की अलग वैरायटी भी देश को आज मिलने जा रही है.

संबंधित पोस्ट

सत्यपाल मलिक को लेकर बड़े आंदोलन की तैयारी में खाप पंचायतें

navsatta

शरद पवार पर अपमानजनक टिप्पणी को लेकर राणे के खिलाफ राकांपा का प्रदर्शन

navsatta

मुख्तार के समर्थन में पूरा विपक्ष एकजुट

navsatta

Leave a Comment