Navsatta
खास खबरमुख्य समाचारराजनीतिराज्य

यूपी में कल से फिर रात्रिकालीन कर्फ्यू, शादी में शामिल हो सकेंगे केवल 200 लोग

लखनऊ,नवसत्ता: ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को देखते हुए यूपी की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. प्रदेश में रात 11 बजे से प्रात पांच बजे तक रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू लागू होगा. इसके साथ ही अब शादी-विवाह आदि सार्वजनिक आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल का साथ अधिकतम 200 लोगों के भागीदारी की अनुमति होगी. ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे को रोकने के लिए सीएम योगी ने हाई-लेवल की टीम-9 को निर्देश दिए हैं.

उच्चस्तरीय टीम-9 को दिए गए निर्देशों के मुताबिक, बाजारों में मास्क नहीं तो सामान नहीं के संदेश के साथ व्यापारियों को जागरूक करें. बिना मास्क कोई भी दुकानदार ग्राहक को सामान न दे. सड़कों/बाजारों में हर किसी के लिए. मास्क अनिवार्य किया जाए. पुलिस बल लगातार गश्त करे. पब्लिक एड्रेस सिस्टम को और प्रभावी बनाया जाए.

निगरानी समितियों को फिर एक्टिव करने के निर्देश
देश के किसी भी राज्य से अथवा विदेश से उत्तर प्रदेश की सीमा में आने वाले हर एक व्यक्ति की ट्रेसिंग-टेस्टिंग की जाएगी. बस, रेलवे और एयरपोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरती जाए. तीसरी लहर के दृष्टिगत गांवों और शहरी वार्डों में निगरानी समितियों को पुन: एक्टिव करें. बाहर से आने वाले हर एक व्यक्ति की टेस्टिंग कराई जाए. साथ ही उनके स्वास्थ्य पर सतत नजर रखी जाए. आवश्यकतानुसार लोगों को क्वारन्टीन किया जाए और अस्पतालों में भर्ती कराया जाए.

औद्योगिक यूनिट में कोविड हेल्प डेस्क और डे केयर सेंटर करें एक्टिव
सीएम योगी ने कहा कि कोविड की तीसरी लहर की आशंका के दृष्टिगत हमने पूर्व में व्यवस्थित तैयारियां की हैं. जिनका पुनर्परीक्षण कर लिया जाए. प्रदेश के सभी शासकीय/निजी चिकित्सा संस्थानों में उपलब्ध चिकित्सकीय सुविधाओं की बारीकी से परख कर लिया जाए. औद्योगिक इकाइयों में कोविड हेल्प डेस्क और डे केयर सेंटर फिर एक्टिव करें.

उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले में लगातार इजाफा हो रहा है. वहीं, कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की दस्तक से हड़कंप मचा हुआ है. शुक्रवार सुबह प्रदेश में कोरोना के 10 मरीज पाए गए हैं. वहीं, एक्टिव केसों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है. अभी ज्यादातर मरीज डेल्टा वायरस के पाए जा रहे है.

यूपी में गुरुवार 1 लाख 80 हजार से ज्यादा कोरोना टेस्ट किए गए. जिसमें 31 नए मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई. जबकि गाजियाबाद में 2 लोगों में ओमिक्रॉन वेरिएंट पाया गया है. वहीं इंग्लैंड से लौटे कानपुर के दो छात्रों में ओमिक्रॉन वेरिएंट मिला है. दोनों ही संक्रमित कानपुर नहीं पहुंच सके. क्योंकि उन्हें दिल्ली एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया था और अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है.

संबंधित पोस्ट

अयोध्या में यातायात हो सुगम, सुरक्षित हो सफर : सीएम योगी

navsatta

भारतीय उद्योग व्यापार मंडल गोसैसिंहपुर की इकाई गठित, दीपक अग्रहरि अध्यक्ष व शिवम मोदनवाल महामंत्री चुने गए

navsatta

भीषण सड़क हादसे में ट्रक के नीचे आयीं चार छात्राएं, तीन की मौत

navsatta

Leave a Comment