क्षेत्रीय
लोहिया की धरती पर जरायम की नर्सरी
अंबेडकर नगर । समाजवाद के पुरोधा डॉ राम मनोहर लोहिया की धरती जरायम की नर्सरी में तब्दील हो गई है। जिले में अपराधियों की लंबी फेहरिस्त है। अपराधी गैर जनपदों एवं प्रांतों में अपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। इतना ही नहीं अंडरवर्ल्ड का भी खासा दखल है। ऐसे ने जिले में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है।

अंबेडकरनगर की पहचान समाजवाद के पुरोधा लोहिया के नाम से है। जहां वह पले बढे, लेकिन मौजूदा समय में जिले की धरती पर जरा यम की नर्सरी में अपराधियों की खेप तैयार हो रही है। जिले में हत्या लूट एवं रंगदारी वसूलने की घटनाएं आम हो गई है। जिले में अपराधियों की लंबी फेहरिस्त हैं जो जनपद समेत ग़ैर जनपदों मे वारदातों को अंजाम दे रहे हैं, इतना ही जिले के अपराधी गैर प्रांतों में अपराधिक वारदात को करने से गुरेज नहीं कर रहे हैं। इसकी ताईद पुलिस विभाग के अभिलेख कर रहे हैं। पुलिस विभाग ने ऐसे डेढ़ दर्जन से अधिक आपराधिक गिरोहों को चिन्हित कर रखा है। हफर थाना क्षेत्र के हरसम्हार निवासी जफर खान उर्फ जफर सुपारी पर महाराष्ट्र एवं इलाहाबाद समेत कई जनपदों में तीन दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज है। अंडरवर्ल्ड सरगना छोटा शकील गिरोह का शार्प शूटर जफर खान मुंबई में काला घोड़ा हत्याकांड समेत कई हाई प्रोफाइल वारदातों को अंजाम दे चुका है। वही उसका भाई खान मुबारक भी अपराध जगत में खासा दखल रखता है। खान मुबारक पर जिले के विभिन्न थानों एवं इलाहाबाद जनपद में 3 दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। पूर्ववर्ती सपा सरकार में जौनपुर जिले में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के पारिवारिक पंडित की हत्या को जिले के जैतपुर थाना क्षेत्र निवासी शेरू सिंह ने पुलिस की वर्दी में अंजाम दिया था। हालांकि एसटीएफ ने उसे मुठभेड़ में मार गिराया था। वही माफिया से ब्लाक प्रमुख बने बर्खास्त सिपाही अजय सिंह का भी नाम अक्सर सुर्खियों में रहता है। पूर्व ब्लाक प्रमुख सुभाष सिंह हत्याकांड लखनऊ में दोहरा हत्याकांड, सपा नेता शेष कुमार वर्मा पर जानलेवा हमले, समेत सिपाही पर कई जिलों में दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। वही पड़ोसी जनपद अयोध्या के गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सरैया निवासी दिलीप बर्मा का नाम भी रंगदारी के मामले में अक्सर आता रहा है। हालांकि मौजूदा समय में दिलीप कारागार में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। इसके अलावा कई अपराधी आए दिन जिले में हत्या लूट एवं जानलेवा हमले की वारदात को अंजाम दे रहे हैं।–------------

जिले में दो माफिया गिरोह चिन्हित

पुलिस महकमे ने जिले में दो माफिया गिरोह को चिन्हित कर रखा है। इसमें पहला गिरोह पूर्व विधायक पवन पांडे का है। जो मौजूदा समय में अपराध जगत से दूरी बनाकर राजनीति कर रहे हैं। वह जिले योग पड़ोसी जिले सुल्तानपुर के लोकसभा एवं विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं। वही दूसरा गिरोह पुलिस सेवा से बर्खास्त किए गए महरुआ थाना क्षेत्र के लोकनाथ पुर निवासी अजय सिंह सिपाही का है। जिसके विरुद्ध हत्या, रंगदारी एवं जानलेवा हमले के दो दर्जन से अधिक मुकदमे दर्ज है। सूत्रों की माने तो उसका दखल महाराष्ट्र गुजरात हरियाणा समेत कई अन्य प्रांतों में भी है।-------------------;

जिले में सक्रिय अधिकांश अपराधी मौजूदा समय में जेल में निरूद्ध है। वहीं कई यह छोड़कर भाग निकले हैं। ऐसे अपराधियों के विरुद्ध समय-समय पर सख्त कार्रवाई की जाती है। अपराधियों की नियमित रूप से निगरानी कराई जाती है। आलोक प्रियदर्शी पुलिस अधीक्षक अंबेडकर नगर

22 Aug 2020
प्रदीप पांडे
कोरोना से यूपी में पहली मौत, गोरखपुर में 25 साल के युवक ने दम तोड़ा
गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पहले कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत होने से शहर में हड़कंप मच गया है। यह प्रदेश में किसी कोरोना पॉजिटिव की पहली मौत है। बस्ती के जिस युवक की मौत हुई है उसकी उम्र 25 साल बताई जा रही है। इतनी कम उम्र में मौत का देश में यह पहला मामला है।

केजीएमयू लखनऊ के मीडिया प्रभारी डॉ सुधीर सिंह के मुताबिक गोरखपुर से जो सैम्पल आया था, वह जांच में पॉजिटिव मिला है। गोरखपुर में हुई जांच भी सही थी। केजीएमयू से क्रास चेक होना था। इसमें भी मामला सही पाया गया।

गौरतलब है कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के कोरोना वार्ड में भर्ती मरीज की सोमवार को मौत हो गई थी, उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण कोरोना बताया गया था। यह जानकारी मिलते ही शहर में हड़कंप मच गया। जिसके बाद इस रिपोर्ट को केजीएमयू दोबारा जांच के लिए भेजा गया था।

मृतक बस्ती जिले का रहने वाला था, प्रशासन ने एहतियातन बस्ती में उसके घर और आसपास के इलाके को पूरी तरह से सीज कर दिया गया है। बता दें कि सोमवार देर रात ही डॉक्टरों की टीम ने आनन-फानन में मरीज के लार का नमूना लेकर जांच के लिए आरएमआरसी सेंटर में भेजा था। जिसकी रिपोर्ट मंगलवार को आई थी।


बस्ती के गांधीनगर को किया गया सील, कराया जा रहा सैनिटाइज

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में कोरोना वार्ड में भर्ती युवक की मौत के बाद बस्ती के गांधीनगर इलाके को सील कर दिया गया है। मोहल्ले को सैनिटाइज किया जा रहा है। वरिष्ठ अफसर मौके पर पहुंच गए हैं। मृतक के परिजनों को रैपिड रिस्पांस टीम अपने साथ जांच के लिए ले गई है। मोहल्ले के लोगों को घर से बाहर न निकलने की सख्त हिदायत दी गई है। नोडल अधिकारी डॉ. फखरेयार हुसैन ने बताया कि मृतक के जनाजे में शामिल लोगों की तलाश की जा रही है। क्षेत्र में चर्चा है कि युवक कुछ समय पहले ही विदेश से लौटा था।


कम उम्र में दूसरी मौत पटना में हुई

इससे पहले पटना में सबसे कम उम्र के व्यक्ति की मौत का मामला सामने आया था। यहां पर 38 साल के एक मरीज की संक्रमण के कारण मौत हुई थी।

01 Apr 2020
navsatta
रेल डिब्बों को बनाया जाएगा आइसोलेशन वार्ड
मिर्जापुर -चौदह अप्रैल तक लागू लॉकडाउन के दौरान भारतीय रेल द्वारा आवश्यक माल परिवहन हेतु संचालन किया जा रहा है अत: यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि माल गाड़ियों को चलाने में किसी भी व्यवधान से बचने के लिए परिसंपत्तियों का रखरखाव बेहतर तरीके से किया जाए। रेलवे के कोरोना योद्धाओं के पास राष्ट्रीय ट्रांसपोर्टर भारतीय रेल को निरंतर चलायमान बनाए रखने की चुनौती के साथ ही उन्हें COVID -19 के प्रसार से बचने के लिए स्वच्छता और सामाजिक दूरी के प्रोटोकॉल का भी सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित करना है। कोरोना संबंधित मदों पर एक विस्तृत समीक्षा महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने विशेष वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप का उपयोग करके की, जिसमें सभी अधिकारी आवश्यक सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने घरों / कार्य स्थलों से जुड़े । बैठक में निम्नलिखित महत्वपूर्ण वस्तुओं की समीक्षा की गई। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार किसी भी अप्रत्याशित स्थिति के लिए तैयार होने के क्रम में, रेलवे कम से कम संशोधन के साथ रेलवे डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड के रूप में उपयोग करने की संभावना पर भी विचार कर रहा है। इसके लिए ट्रायल कोच को कोचिंग डिपो दिल्ली में संशोधित किया जा रहा है तत्पश्चात इस निर्णय का चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ मूल्यांकन किया जाएगा ताकि आकस्मिकता की विशेष गंभीर परिस्थितियों में इसका प्रयोग किया जा सके। इसके अलावा आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए आसानी से रेक हैंडलिंग सुनिश्चित करने के लिए माल शेड / साइडिंग वाले रेल सेक्शनो की सघन निगरानी और रखरखाव तथा रेलवे के सभी आवश्यक कार्यों में स्वच्छता और सामाजिक दूरी का प्रोटोकॉल पहले से ही बहुत सख्ती से लागू है। इससे आगे बढ़ते हुए रेलवे ने अब लॉबी में चालक दल और गार्ड के साइन-ऑन / ऑफ से संबंधित नियमों में परिवर्तन किया है। विभिन्न लोगों द्वारा टच किए जाने से बचाव के लिए क्रू मैनेजमेंट सिस्टम पर उनका विवरण डेटा एंट्री ऑपरेटर द्वारा फीड किया जाएगा और श्वास परीक्षण टेस्ट भी वैकल्पिक कर दिया गया है। यदि लॉकडाउन अवधि तक कोई भी चालक दल श्वास परीक्षण टेस्ट देने के लिए तैयार नहीं है, तो उसे स्व-घोषणा के आधार पर ट्रेन चलाने की अनुमति होगी, हालांकि यह सुविधा उन्ही चालक दल के लिए उपलब्ध होगी जिनका कोई एल्कोहलिक इतिहास नहीं होगा।क्रू लिंक को इस तरह से युक्तिसंगत बनाया जा रहा है कि, अधिक से अधिक रनिंग स्टाफ अपना रोज़ का कार्य समाप्त करके बेस स्टेशन लौट सकें। विज्ञप्ति के अनुसार सामाजिक दूरी को बनाए रखते हुए ट्रैक और अन्य रेलवे परिसंपत्तियों के अनिवार्य संरक्षा संबंधी रखरखाव की निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। कार्यस्थल पर गैंग आदि के उपकरण अलग अलग रखे जाएंगे। स्टाफ रोस्टर भी इस तरह से बनाया जा रहा है कि आवश्यक श्रेणी के कर्मचारियों को प्रत्येक ड्यूटी के बाद घर पर अधिक से अधिक आईसोलेशन मिले । बिना अधिक कर्मचारियों के प्रयोग के मैकेनाइज्ड तकनीक का प्रयोग करते हुए ट्रैक पैरामीटर रिकॉर्डिंग ट्रेनों को चलाकार ट्रैक की स्थिति का आंकलन किया जाएगा तथा रेल परिचालन में संरक्षा के लिए प्राप्त परिणामों के आधार पर आवश्यक स्थानों पर रखरखाव इनपुट दिए जाएंगे। COVID-19 के प्रसार पर रोकथाम से संबंधित व्यय के सभी बिलों को ऑनलाइन निपटाया जा रहा है और सर्वोच्च प्राथमिकता दी जा रही है।रेलवे कॉलोनियों और कार्यस्थलों पर आवश्यक स्वच्छता व्यवस्था लागू है। महाप्रबंधक चौधरी ने मंडल रेल प्रबंधकों से रेलवे कॉलोनियों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पर नजर रखने और किसी भी स्थान पर किसी भी कठिनाई की स्थिति को ज़िला प्रशासन के समन्वय से हल करने के लिए कहा। उन्होंने इस बात पर भी बल दिया कि हमें अपने स्टेशनों को भविष्य के लिए किसी भी अप्रत्याशित घटना के लिए तैयार करने के लिए थर्मल स्कैनिंग, सामाजिक दूरी आदि के दृष्टिगत आवश्यक दीर्घकालिक अवसंरचना के निर्माण के लिए काम करना शुरू करना चाहिए। उत्तर मध्य रेलवे आवश्यक वस्तुओं की सेवाओं के संचालन के लिए हर संभव कदम उठा रहा है और हम सभी से आग्रह किया गया है कि इस संकट के समय अपने महान देश की सेवा करने में रेलवे की मदद करें और घर पर रहकर सामाजिक दूरी बनाए रखें।


29 Mar 2020
Amar nath seth
खोड़ा नगर पालिका की टीम जेसीबी लेकर पहुंची दुकान तोड़ने, होना पड़ा बैरंग वापिस,
गाजियाबाद। खोड़ा नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत नेहरू गार्डन पुलिस चौकी के पास बनी दुकान का है। अधिशासी अभियंता अधिकारी के के भड़ाना ने बताया कि यह संपत्ति सरकारी है और इस पर शौचालय का निर्माण होना है इसलिए इस संपत्ति को कई बार वाॅरनिंग देकर नगर पालिका के द्वारा कहा गया है कि इस संपत्ति को खाली कर दिया जाए, उधर इस संपत्ति को सुगरा बेगम पत्नी स्वर्गीय श्री बुंदू खान ने कहा कि वह 15 वर्षों से कोर्ट में केस लड़ रही हैं और यह संपत्ति मेरे पति स्वर्गीय श्री बुंदू खान को वसीयत के द्वारा भूरे सिंह पुत्र निहाल सिंह द्वारा दी गयी थी। सुगरा बेगम ने बताया कि उक्त संपत्ति को नोएडा प्राधिकरण द्वारा अपनी संपत्ति बताया जाने लगा जिस कारण प्रार्थिनी के पति द्वारा एक वाद संख्या- 235/2004, हाजी बुंदू खान बनाम नोएडा विकास प्राधिकरण योजित किया गया था जोकि जोकि दिनांक 9-3- 2016 को निरस्त हो गया था जिसके विरुद्ध प्रार्थिनी द्वारा अपील संख्या-88/2016 हाजी बुंदू खान बनाम नोएडा विकास प्राधिकरण योजित की है जोकि वर्तमान में न्यायालय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश कोर्ट संख्या- 05, गाजियाबाद के यहां विचाराधीन है और उक्त अपील में प्रार्थिनी द्वारा एक प्रार्थना पत्र 24 ग इस आशय का प्रस्तुत किया है कि उक्त संपत्ति किस खसरा नंबर में है इसका सर्वे कराया जाए जिसे न्यायालय ने अपने आदेश दिनांक 01- 04- 2019 द्वारा स्वीकार कर लिया है और न्यायालय के सर्वे अमीन द्वारा किया जा रहा है। उक्त संपत्ति प्रार्थिनी के पति को वसीयत के माध्यम से मिली है और उक्त संपत्ति की वसीयत के दस्तावेज भी मौजूद हैं,अब सबसे अहम बात यह है कि प्रार्थिनी का कहना है कि उसके पास अपनी जीविका का एकमात्र साधन यही है। उक्त वाद माननीय न्यायालय में विचाराधीन है और इसमें दिनांक 06-05-2019 नियत है और इस ओर देखा जाए तो जब तक माननीय न्यायालय से वाद का निस्तारण नहीं होता है तब तक किसी भी प्रकार से अगर कोई भी कार्यवाही होती है तो वह माननीय न्यायालय की अवमानना की श्रेणी में आता है, मामला गाजियाबाद के खोड़ा कालोनी स्थित नेहरू गार्डन का है जहां पर प्रार्थिनी सुगरा बेगम ने मोबाइल की दुकान खोली हुई है। कल सुबह लगभग 10 बजे से दुकान तोड़ने पहुंची जेसीबी लेकर नगर पालिका टीम को आखिर वापिस लौटना पड़ा,हालांकि यह बात ठीक है कि अगर यह संपत्ति सरकारी है और इस संपत्ति पर अगर अवैध कब्जा किया गया है तो बात समझ में आती है लेकिन गौर करने वाली बात यह है कि जिस समय इस संपत्ति को वसीयत किया गया था उस समय खोड़ा कालोनी में खास बसावत नहीं थी और न ही प्रार्थिनी को उस समय इन सब बातों का कोई ज्ञान था। खैर जब मामला माननीय न्यायालय में विचाराधीन है और ऐसे में अगर कोर्ट की अवमानना होती है तो वह अपराध की श्रेणी में आता है। सुगरा बेगम ने बताया कि वह सरकार से अपील करते हुए कहा रही हैं कि उनकी जीविका चलाने के लिए और कोई दूसरा सहारा नहीं है इस लिए उनकी दुकान को न तोड़ा जाए, और अगर तोड़ दिया गया तो फिर उनकी रोज़ी रोटी छीनने का काम किया जाएगा और उस वृद्ध महिला का उत्पीड़न होने की श्रेणी में आता है चूंकि वही एक साधन एक मात्र है उसकी जीविका को चलाने के लिए।



03 May 2019
navsatta
स्वामी ने महबूबा से कहा- सेना से FIR हटाओ नहीं तो गिरेगी सरकार
जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में पुलिस कार्रवायी में दो मारे गए पत्थर फेंकनेवालों की हुई मौत के बाद सेना के जवानों पर दर्ज एफआईआर से भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी गुस्से में है और महबूबा सरकार को नसीहत दे रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, “स्वामी ने मंगलवार को कहा- ये क्या मजाक है? सरकार को गिराओ। महबूबा से कहो कि एफआईआर वापस लें या उनकी सरकार जाएगी।”


स्वामी का यह बयान उस घटना के दो दिन बाद आया है जिसमें शनिवार को जम्मू कश्मीर के शोपियां में पत्थर बरसा रही भीड़ पर की गई पुलिस फायरिंग में दो युवक की मौत हो गई। जिसके फौरन बाद महबूबा मुफ्ती ने इस घटना की जांच के आदेश दिए थे।


रविवार को पुलिस ने 10, गढ़वाल यूनिट आर्मी के खिलाफ पुलिस ने रणबीर पैन कोड की धारा 302 (हत्या), 307 (हत्या की कोशिश) एफआईआर दर्ज की। उस वक्त सेना के जवानों की अगुवाई कर रहे एक मेजर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।

30 Jan 2018
Navsatta

हमारे संवाददाता बनिए

यदि आपके पास कोई सूचना है कोई दुर्लभ फोटो, आप-बीती, समाज देश और दुनिया के नए पुराने दौर की कोई दास्तान हो जो पाठकों को रोमांचित या उनका ज्ञानवर्धन करे तो आप अपनी भाषा में हमें पूरे वृत्तांत के साथ ई-मेल कीजिए। आपका पत्रकार या लेखक होना जरूरी नही है। हम आपसे जुड़ेंगे और आप दुनिया से जुड़ेंगे।


हमें ईमेल करें navsatta@gmail.com

Daily Horoscopes

वीडियो