Navsatta
खास खबरचर्चा मेंदेशमुख्य समाचारराज्यविदेश

आइए साथ मिलकर बनाएं नए भारत का नया उत्तर प्रदेशः मुख्यमंत्री योगी

  • कभी खराब क्रेडिट देख बैंकों ने रिस्पॉन्स नहीं दिया
  • आज हम रेवेन्यू सरप्लस स्टेट: मुख्यमंत्री योगी

मुंबई,नवसत्ताः  देश की सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश के विकास में सहयात्री बनने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देश के बैंकिंग और वित्तीय जगत का आह्वान किया है। नए भारत के ‘ग्रोथ इंजन’ उत्तर प्रदेश को $1 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने के बड़े लक्ष्य के साथ दो दिवसीय दौरे पर मुंबई पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ गुरुवार को बैंकिंग जगत के दिग्गजों की बैठक हुई। मुझे पता है कि आप सभी न केवल अपने बैंक पर नजर रखते हैं बल्कि हमारे उत्तर प्रदेश पर भी आपकी नजर है। आप वहां की हर खबर रखते हैं। आप हमारी विकास यात्रा के साक्षी भी हैं और सहभागी भी।

उत्तर प्रदेश आकार में भारत का चौथा सबसे बड़ा राज्य है। सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य के साथ-साथ हम सबसे ज्यादा युवा जनसंख्या वाले प्रदेश हैं। यह युवा हमारी ताकत है, हमारी पूंजी है। यहां की उर्वर भूमि हमारे प्रदेश की समृद्धि का अहम साधन है।
2017 में जब हमारी सरकार बनी तब प्रदेश की माली हालत बहुत खराब थी। हमने कुछ योजनाएं बनाईं, बैंकों को फोन किया, लेकिन क्रेडिट इतनी खराब थी कि बैंकों ने रिस्पॉन्स नहीं दिया।

आज यह बताते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है कि तब और अब के यूपी में सब बदल गया है। आज हम रेवेन्यू सरप्लस स्टेट हैं। हमने अपने वार्षिक बजट को दोगुने से ज्यादा तक विस्तार दिया है। बीते 05-06 वर्षो के भीतर उत्तर प्रदेश सरकार वायु, जल, सड़क एवं रेल नेटवर्क के माध्यम से बेहतर कनेक्टिविटी के लिए त्वरित गति से बुनियादी ढांचे का विकास कर रही है, जिससे उद्योगों को वैश्विक एवं घरेलू बाजार तक पहुंच बनाने में लॉजिस्टिक्स की सुलभता में वृद्धि होगी।

आज पूर्वी यूपी के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे है तो पिछड़े कहे जाने वाले बुंदेलखंड की तरक्की को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे रफ्तार दे रहा है। पूर्वी और पश्चिमी क्षेत्र को जोड़ने के लिए हम प्रयागराज से मेरठ तक गंगा एक्सप्रेसवे बना रहे हैं। आज उत्तर प्रदेश में ‘एक्सप्रेसवे राज्य’ के रूप विश्वस्तरीय रोड कनेक्टिविटी की उपलब्धता है।

उत्तर प्रदेश 05 अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डों वाला देश का एकमात्र राज्य बनने जा रहा है। हम लैंड लॉक स्टेट थे लेकिन अब यहां देश का पहला अंतर्देशीय जलमार्ग (इनलैंड वॉटर-वे), विकसित हो गया है। देश का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क उत्तर प्रदेश मे है। विकास और बदलाव के यह काम बिना बैंकों/वित्तीय संस्थानों के सहयोग के संभव नहीं था। आपने हमारा सहयोग किया, देखिए, उत्तर प्रदेश बदल गया।

कोरोना काल में जब प्रवासी श्रमिक आये तो लोगों ने हमसे कहा, इनको बुला रहे हैं, यह करेंगे क्या? हमने सबकी स्किल मैपिंग कराई। प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा से हमने प्रदेश के परंपरागत उद्यम की भी मैपिंग की और उस अनुसार कार्यक्रम बनाये तो आज 96 लाख से अधिक एमएसएमई इकाइयां कार्यरत हैं जो करोड़ों युवाओं के सेवायोजन का माध्यम बनी हैं। एक जिला एक उत्पाद की जो हमारी अभिनव योजना है। हर जिले का अपना यूनिक उत्पाद है, हम उसकी ब्रांडिंग, मार्केटिंग कर रहे हैं। यह योजना हमें अपने निर्यात को बढ़ाने में सहायक सिद्ध हो रही है।

उत्तर प्रदेश बड़ा राज्य है तो हमारे सामने चुनौतियां भी बहुत हैं। ये चुनौतियां हमें अपने लिए बड़े लक्ष्य तय करने और कड़ी मेहनत के लिए प्रोत्साहित करती है। कोविड के लिए हमारी प्रबंधन नीति को विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित अनेक वैश्विक संस्थाओं ने सराहा है। तमाम चुनौतियों के बाद भी उत्तर प्रदेश आज पॉवर सरप्लस और रेवेन्यू सरप्लस स्टेट के रूप में अपने बड़े लक्ष्यों के साथ लगातार आगे बढ़ रहा है।

हम राज्य में अनेक औद्योगिक परियोजनाओं पर काम कर रहे हैं। भारत को रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य के साथ स्थापित हो रहे दो डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर में से एक का विकास उतर प्रदेश में किया जा रहा है।

मैं आप सभी को हमारे राज्य विद्यमान अपार अवसरों का लाभ उठाने तथा नए भारत को समृद्ध एवं शक्तिशाली बनाने की दिशा में उत्तर प्रदेश की प्रगति यात्रा में हमारे साथ सहयात्री बनने के लिए उत्तर प्रदेश में आपको आमंत्रित करता हूँ।

इनसे हुई मुख्यमंत्री योगी की भेंट
● एस. रमन, चेयरमैन एंड एमडी, सिडबी
●स्मिता मोहंती, जीएम, नाबार्ड
●आशीष चौहान, एमडी एंड सीईओ, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज
●उदय कोटक, सीईओ कोटक महिंद्रा
●एबी विजय कुमार, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर, बैंक ऑफ महाराष्ट्र
●अजय खुराना, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर, बैंक ऑफ बड़ौदा
●दिनेश खारा, सीएमडी एसबीआई
●विशाल तुलस्यान, सीईओ व एमडी, मोतीलाल ओसवाल प्राइवेट इक्विटी एडवाइजर्स
●गौरव त्रेहन, पार्टनर एंड सीईओ, केकेआर
●दीपक गुप्ता, संयुक्त प्रबंध निदेशक, कोटक महिंद्रा बैंक
●मनीष जैन, एमडी, स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक
●प्रशांत कुमार, सीईओ, यस बैंक
●राकेश शर्मा, सीईओ, आईडीबीआई
●हर्षा बंगारी, एमडी, इंडिया एग्जिम बैंक
●तरुण शर्मा, सीजीएम व सीएफओ, इंडिया एग्जिम बैंक
●रमेश अय्यर, एमडी, महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड
●कार्तिक रेड्डी, फाउंडर, ब्लूम वेंचर्स

 

संबंधित पोस्ट

खुशखबरी: अब यूपी में बनेंगे मोबाइल हैंडसेट, लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार

navsatta

Maharashtra: सरकार बनने के बाद 3 और 4 जुलाई को बुलाया गया विधानसभा सत्र

navsatta

बाइक व ट्रैक्टर की भिड़ंत में दो की मौत, बच्ची गंभीर रूप से घायल

navsatta

Leave a Comment