Navsatta
देशमुख्य समाचारराज्य

यूपी में किसानों के लिए बनेंगे विशेष कंट्रोल रुम

लखनऊ,नवसत्ताः यूपी के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समस्त मंडलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में कृषि, नियोजन, पशुधन और स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा की। अपने संबोधन में उन्होंने समस्त जिलाधिकारियों तथा मंडलायुक्तों को धान खरीद केंद्रों का नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में किसानों की शिकायतों के समाधान के लिए विशेष कंट्रोल रूम स्थापित किए जाए। किसानों की धान तौलाई में किसी भी प्रकार की अनियमितता नहीं होनी चाहिए। किसानों को किसी भी प्रकार की समस्याएं न हो इसके लिए डिजिटल सिस्टम का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग किया जाए।

अवैध धान भंडारण व बिचौलियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो
अवैध धान के भंडारण तथा बिचौलियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि किसानों को पराली न जलाने को लेकर जागरूक कर उन्हें इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताया जाए। फसल अवशेषों को काटकर खेत में पानी लगाकर एवं यूरिया छिड़ककर खेत में ही पराली को गलाने का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। संवेदनशील गांवों में जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा कैम्प लगाकर पराली जलाने की घटनाओं को रोका जाए।

पराली दो खाद लो कार्यक्रम को बढ़ावा दिया जाए
विभिन्न विभागों के कर्मचारियों को समन्वय स्थापित करने के लिए ग्रामवार ड्यूटी लगायी जाएं। सभी जनपदों में ‘पराली दो, खाद लो’ कार्यक्रम को अधिक से अधिक बढ़ावा दिया जाए, जिससे पराली जलाने की घटनाएं न हो। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में डेंगू तथा अन्य संचारी रोगों पर नियंत्रण के लिए सघन फॉगिंग एवं लारवीसाईडल स्प्रे अभियान युद्धस्तर से चलाया जाए।सभी जनपदों में डेंगू तथा अन्य संचारी रोगों की जांच के लिए ब्लड कंपोनेंट सेपरेटर यूनिट्स की उपलब्धता, पर्याप्त मात्रा में प्लेटलेट्स तथा आवश्यक किट्स की लगातार समीक्षा की जाए।

जिला अस्पतालों में बेड और दवा की नहीं हो कमी
साथ ही जिला अस्पतालों में बेड और औषधियों की कमी भी नहीं होनी चाहिए। इससे पूर्व, जिलाधिकारी मथुरा ने प्रधानमंत्री मत्स्य संम्पदा योजना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मथुरा में 2021-2022 में 2843 लोगों को मत्स्य पालन द्वारा रोजगार दिया गया है। पालीकल्चर तकनीकी द्वारा मत्स्य पालकों को मत्स्य पालन कराने से 2021-22 में उत्पादन में 2040 मैट्रिक टन की वृद्धि हुई है। वर्तमान में मत्स्य पालक झींगा पालन से प्रति एकड़ 2.50 से 3 लाख की आय हो रही है। जिलाधिकारी फिरोजाबाद ने बताया कि शहर में तालाबों का जीर्णांद्धार करने के लिए अपना तालाब स्वच्छ तालाब अभियान चलाया गया। इस महाअभियान में 81 तालाबों की सफाई की जा चुकी है। तालाबों को सिल्ट चैम्बर और नालियों से जोड़ने के अतिरिक्त कार्य किये जा रहे हैं।

जिलाधिकारी लखीमपुर ने सम्पूर्ण सुपोषण अभियान के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अप्रैल 2022 में संपूर्ण सुपोषण अभियान के अंतर्गत सैम और मैम बच्चों को चिन्हित किया गया था, जिसमें सैम बच्चे 1081 थे, अक्टूबर में सैम बच्चों में से 902 बच्चे सामान्य श्रेणी में आ चुके है। इसके अलावा अप्रैल में ही मैम बच्चे 11770 चिन्हित किए थे, पिछले माह मैम बच्चे 10488 बच्चे सामान्य श्रेणी में आ चुके है।

तकनीकी समस्याओं का किया गया निस्तारण
कमिश्नर अयोध्या ने बताया कि अयोध्या मंडल में वर्ष 2021-22 के दौरान धान क्रय के भुगतान में आई तकनीकी समस्याओं का निस्तारण किया गया। कुछ किसानों की एन.पी.सी.आई. मैपिंग, मृत्यु हो जाने तथा उम्र अधिक होने से आधार बायोमैट्रिक न हो पाने के कारण भुगतान लंबित था, उन किसानों को पीपीए मोड के माध्यम से भुगतान किया गया। बैठक में अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पशुपालन डा0 रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री पार्थसारथी सेन शर्मा, सचिव नियोजन श्री आलोक कुमार सहित संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण तथा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी मण्डलायुक्त, जिलाधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

संबंधित पोस्ट

एनएसई और बीएसई पर यूपी की 20 नई एमएसएमई हुई लिस्टेड

navsatta

पूरा होगा 1400 आवास का सपना, आज गोरखपुर आएंगे सीएम योगी

navsatta

परिसीमन के बाद होंगे जम्मू-कश्मीर में चुनाव

navsatta

Leave a Comment