Navsatta
अपराधखास खबरदेशमुख्य समाचार

गद्दारों की खैर नहीं: आतंकी सलाहुद्दीन के बेटे समेत 4 कर्मचारी बर्खास्त

श्रीनगर,नवसत्ता: जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन की पत्नी व बेटे समेत 4 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक इन पर आतंकियों से संबंध रखने और कश्मीरी पंडितों की हत्या करने के भी आरोप हैं.

अधिकारियों ने बताया कि चारों कर्मचारियों को संविधान के अनुच्छेद 311 के तहत बर्खास्त किया गया है, जिसमें सरकार को बिना किसी जांच के अपने कर्मचारी को निष्कासित करने की शक्ति प्राप्त है.

बता दें कि जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के टॉप आतंकवादी फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे की पत्नी अस्सबाह-उल-अर्जमंद खान जम्मू-कश्मीर प्रशासनिक सेवा में अधिकारी थी और ग्रामीण विकास निदेशालय में कार्यरत थी. वहीं सैयद सलाउद्दीन का बेटा सैयद अब्दुल मुईद उद्योग एवं वाणिज्य विभाग में सूचना प्रौद्योगिकी प्रबंधक था.

सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन का सरगना है. जिन और दो लोगों को बर्खास्त किया गया है उनमें डॉ.मुहीत अहमद भट्टजो कि कश्मीर विश्वविद्यालय में वैज्ञानिक डी के तौर पर पोस्टर था और जम्मू कश्मीर विश्वविद्यालय में ही सहायक प्रोफेसर हुसैन कादरी भी शामिल है.

अधिकारियों ने बताया कि फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे इस समय आतंकवाद वित्तपोषण मामले में न्यायिक हिरासत में है.

संबंधित पोस्ट

भाजपा को बंगाल में तीन चरणों में मिला लाेगों को अभूतपूर्व समर्थन : शाह

navsatta

उम्र कैद की सजा काट रहे डेरा प्रमुख राम रहीम को 21 दिन की फरलो मंजूर

navsatta

सेना के मेजर ने की आत्महत्या, सर्विस राइफल से खुद को मारी गोली

navsatta

Leave a Comment