Navsatta
खास खबरदेशस्वास्थ्य

Coronavirus Updates: बेकाबू हुआ कोरोना, आज भी तीन लाख से ज्यादा नये मामले आये

नर्ई दिल्ली,नवसत्ता: भारत में दिन-प्रतिदिन कोरोना की रफ्तार तेज होती जा रही है. हालांकि, कुछ राज्यों में दैनिक मामलों के आंकड़े कम जरूर हुए हैं. बीते 24 घंटों में कोरोना के 3,06,064 नए मामले सामने आए हैं जबकि इसी दौरान ठीक हुए मरीजों की संख्या 2,43,495 है. इसी दौरान 439 लोगों की कोरोना से मौत हुई है.

महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक जैसे अभी भी कई राज्य हैं, जहां कोरोना के नए मामलों ने टेंशन बढ़ा दी है. कर्नाटक में रविवार को कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित 50,210 नए मरीज मिले. वहीं, एक दिन पहले कर्नाटक में 38,563 नए मामले दर्ज हुए थे. यह दूसरी बार है जब कर्नाटक में दैनिक मामलों की संख्या 50 हजार के पार गई है. पिछले साल पांच मई को 50,112 नए मरीज मिले थे. हालांकि तब मृतक संख्या 346 थी जबकि आज 19 है.

इस बीच भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने बताया कि भारत में रविवार को कोरोना वायरस के लिए 14,74,753 सैंपल टेस्ट किए गए. कल तक कुल 71,69,95,333 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं.

भारत में लग चुके 162.73 करोड़ डोज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक पूरे भारत में कोविड की 162.73 करोड़ वैक्सीन डोज दी जा चुकी हैं. राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास अभी 13.83 करोड़ से अधिक शेष और अप्रयुक्त कोविड वैक्सीन डोज उपलब्ध हैं.

ओमिक्रॉन वैरिएंट का अब सामुदायिक संक्रमण

इधर इंडियन सार्स-कोव-2 जीनोमिक कंसोर्टियम (आइएनएसएसीओजी) ने अपने बुलेटिन में बड़ी बात कही है जिसने चिंता बढ़ा दी है. आपको बता दें कि इस कंसोर्टियम का गठन भारत सरकार ने कोरोना वायरस की जीनोम सीक्वेसिंग का विश्लेषण करने के लिए किया है. आइएनएसएसीओजी की ओर से कहा गया है कि भारत में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वैरिएंट का अब सामुदायिक संक्रमण हो रहा है. दिल्ली, मुंबई जिन महानगरों में कोविड के मामलों में तेज वृद्धि देखी गयी है, वहां यह वैरिएंट हावी हो गया है. यानी, ओमिक्रोन का प्रसार अब विदेशी यात्रियों के माध्यम से नहीं, बल्कि देश के भीतर से ही हो सकता है.

संक्रमण के लक्षण नहीं दिखे

आइएनएसएसीओजी ने रविवार को जारी अपने बुलेटिन में कहा है कि अब तक सामने आये ओमिक्रॉन के अधिकतर मामलों में या तो रोगी में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखे हैं या फिर हल्के लक्षण नजर आये हैं. हालांकि, मौजूदा लहर में अस्पताल और आइसीयू में भर्ती होने के मामले वृद्धि देखी गयी है. खतरे के स्तर में अब भी कोई परिवर्तन नहीं हुआ है.

सब-वैरिएंट बीए.2 की कुछ हिस्सों में मौजूदगी

आइएनएसएसीओजी ने यह भी कहा है कि ओमिक्रॉन के संक्रामक सब-वैरिएंट बीए.2 की देश के कुछ हिस्सों में मौजूदगी मिली है. एस जीन ड्रॉपआउट आधारित स्क्रीनिंग के दौरान इस बात की काफी आशंका है कि संक्रमण का पता न चले. वायरस के जेनेटिक बदलाव से बना एस-जीन ड्रॉपआउट ओमिक्रॉन वैरिएंट जैसा ही है. बुलेटिन में कहा गया है कि हाल में पता चले बी.1.640.2 वंश की निगरानी की जा रही है. इसके तेजी से फैलने का कोई सबूत नहीं है. इसके इम्युनिटी को भेदने की आशंका है, लेकिन फिलहाल यह चिंताजनक वैरिएंट नहीं है. अब तक, भारत में ऐसे किसी भी मामले का पता नहीं चला है.

सोमवार तक देश में सक्रिय मामले- 22,49,335
कुल रिकवरी- 3,68,04,145
कुल मौतें- 4,89,848
कुल वैक्सीनेशन- 1,62,26,07,516

संबंधित पोस्ट

जल जीवन मिशन में घोटालों से नाराज राज्यमंत्री दिनेश खटिक ने दिया इस्तीफा

navsatta

तालिबान की नई सरकार में गृहमंत्री बना 37 करोड़ रुपये का इनामी

navsatta

ड्रग्स केस: आर्यन खान की जमानत याचिका टली, 13 को होगी सुनवाई

navsatta

Leave a Comment