Navsatta
चुनाव समाचार मुख्य समाचार

चुनाव तारीखों का ऐलानःपहले चरण की वोटिंग 10 फरवरी को,नतीजे 10 मार्च को

कोविड प्रोटोकाल के तहत होंगे पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव

संवाददाता

नई दिल्ली,नवसत्ता: चुनाव आयोग ने आज पांच राज्यों के चुनाव कार्यक्रम जारी करते हुए कहा है कि कोविड की वर्तमान स्थिति को देखते हुए राजनैतिक दलों को 15 जनवरी तक रैली,रोड शो और पदया़त्रा की अनुमति नहीं होगी। यूपी में सात चरणों में मतदान कराया जाएगा। आयोग ने मतदाताओं से आहवान किया है कि वे चुनाव प्रक्रिया में बढ़चढ़ कर भाग लें।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चन्द्रा ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि 403 विधानसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में 7 चरणों मतदान होगा। इसके अलावा उत्तराखंड, गोवा और पंजाब में 14 फरवरी को एक ही राउंड में मतदान होना है। मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और 3 मार्च को वोटिंग होगी। उत्तर प्रदेश में पहले राउंड की वोटिंग 10 फरवरी को होगी। इसके बाद दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को होना है। 20 फरवरी को तीसरे और 23 तारीख को चैथे राउंड की वोटिंग होगी। 27 फरवरी को 5वें, 3 मार्च को छठे और 7 मार्च को 7 राउंड का मतदान होना है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने बताया कि 10 मार्च को सभी 5 राज्यों के नतीजों का ऐलान किया जाएगा।

उत्तराखण्ड का कार्यक्रम

उत्तराखंड की सभी सीटों पर एक ही चरण में चुनाव कराए जाएंगे. नामांकन 25 जनवरी से शुरू होंगे. नामांकन की आखिरी तारीख 28 जनवरी होगी. स्क्रूटनी 29 जनवरी को होगी. नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 31 जनवरी होगी. 14 फरवरी को प्रदेश की 70 विधानसभा सीटों पर वोट डाले जाएंगे. वहीं मतगणना 10 मार्च को होगी.

पंजाब का चुनावी कार्यक्रम

पंजाब में इस बार भी विधानसभा चुनाव एक चरण में ही आयोजित होगा. चुनाव आयोग की तरफ से की गई घोषणा के तहत पंजाब चुनाव के लिए 21 जनवरी 2022 से नामांकन की प्रक्रयिा शुरू होगी. तो वहीं 14 फरवरी 2022 को मतदान की प्रक्रिया आयोजति की जाएगी. इससे पूर्व 2017 के पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 4 फरवरी को वोट डाले गए थे.

 

इससे पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि कोरोना में चुनाव कराना चुनौती है। कोरोना के बीच चुनाव कराना हमारा कर्तव्य है। चुनाव की तैयारियों की समीक्षा की गई है। 690 विधानसभा में वोट डाले जाएंगे।

ऑनलाइन नामांकन दाखिल करने की वैकल्पिक सुविधा

उम्मीदवारों को नामांकन ऑनलाइन दाखिल करने की वैकल्पिक सुविधा मिलेगी। आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को अखबारों, टीवी चैनलों पर प्रचार अभियान की अवधि के दौरान तीन बार अपने खिलाफ लंबित मुकदमों की जानकारी देनी होगी। राजनीतिक दलों को भी यह बताना होगा कि ऐसी पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवार को उन्होंने क्यों चुना है। ऐसे उम्मीदवारों की जानकारी एप पर भी उपलब्ध होगी।

24.9 लाख मतदाता की पहली बार वोट डालेंगे

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि 5 जनवरी को मतदाता की सूची डाली गई थी। 24.9 लाख मतदाता की पहली बार वोट डालेंगे। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि 5 जनवरी को मतदाता की सूची डाली गई थी। 24.9 लाख मतदाता की पहली बार वोट डालेंगे। यूपी में 29 प्रतिशत मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। थर्मल स्कैनिंग, मास्क और सैनिटाइजर की पर्याप्त व्यवस्ता है। सभी पोलिंग बूथ पर व्यवस्ता की गई है। पोलिंग स्टेशन की क्षमता बढ़ाई गई है। 2 लाख 15 हजार से ज्यादा पोलिंग बूथ बनाए गए हैं।

2.15 लाख मतदान केंद्र

2.15 लाख मतदान केंद्र होंगे। हर मतदान केंद्रों पर अधिकतम 1250 वोटर ही होंगे। हर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पूरी तरह से महिला स्टाफ के जिम्मे होगा। 690 निर्वाचन क्षेत्रों में ऐसे 1620 मतदान केंद्र होंगे।

सभी चुनावकर्मियों को टीके की दोनों खुराक जरूरी

हर राज्य की विधानसभा सीट का कार्यकाल पांच साल ही रह सकता है। समय पर चुनाव कराना लोकतांत्रिक शासन सुनिश्चित कराने के लिए जरूरी है। चुनाव ड्यूटी में लगे सभी अधिकारी ऐसे होंगे, जो टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं। उन्हें एहतियाती अतिरिक्त खुराक भी दी जा सकेगी।

संबंधित पोस्ट

पंचायत चुनाव: चौथे चरण में 17 जिलों में पड़ेंगे वोट

navsatta

गोवा में केजरीवाल का बड़ा ऐलान, सभी महिलाओं को 1000 रुपए देगी आप

navsatta

सपा विधायक सुभाष पासी भाजपा में शामिल, प्रदेश अध्यक्ष ने दिलाई सदस्यता

navsatta

Leave a Comment