Navsatta
खास खबर देश मुख्य समाचार राजनीति

CNCI कैंसर संस्थान कोलकाता परिसर का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

CNCI KOLKATA CAMPUS

कोलकाता,नवसत्ता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोलकाता स्थित चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान (सीएनसीआई) के दूसरे परिसर का उद्घाटन किया. पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये इसका उद्घाटन किया. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, देश के हर नागरिक तक उत्तम स्वास्थ्य सुविधाओं को मजबूत करने की दिशा में हमने एक और कदम बढ़ाया है. इससे उन गरीब और मध्यमवर्ग के परिवारों को फायदा मिलेगा, जिनका कोई अपना कैंसर से जूझ रहा होगा. कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद थीं.

कैंसर के लिए ज़रूरी दवाओं की कीमतों में की गई कमी

पीएम मोदी ने कहा कि, कैंसर की बीमारी तो ऐसी है जिसका नाम सुनते ही गरीब और मध्यम वर्ग हिम्मत हारने लगता था. गरीब को इसी कुचक्र, इसी चिंता से बाहर निकालने के लिए देश सस्ते और सुलभ इलाज के लिए निरंतर कदम उठा रहा है. बीते सालों में कैंसर के इलाज के लिए ज़रूरी दवाओं की कीमतों में काफी कमी की गई है.

150 करोड़ वैक्सीन डोज लगाने का ऐतिहासिक मुकाम हासिल

पीएम मोदी ने कहा कि साल की शुरुआत देश ने 15 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीनेशन से की थी. वहीं आज साल के पहले महीने के पहले हफ्ते में ही, भारत 150 करोड़ वैक्सीन डोजेज़ का ऐतिहासिक मुकाम भी हासिल कर रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, अंधेरा जितना घना होता उजाला उतना ही अहम हो जाता है. चुनौतियां जितनी ज्यादा हों तो हौंसला उतना ही ऊंचा हो जाता है. लड़ाई जितनी कठिन हो अस्त्र-शस्त्र उतने ही जरूरी हो जाते हैं.

बंगाल को अब तक 11 करोड़ डोज मुफ्त दी

सरकार द्वारा अब तक पश्चिम बंगाल को भी कोरोना वैक्सीन की करीब-करीब 11 करोड़ डोज मुफ्त मुहैया कराई जा चुकी है. बंगाल को डेढ़ हजार से अधिक वेंटिलेटर, 9 हजार से ज्यादा नए ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए हैं. 49 पीएसए नए ऑक्सीजन प्लांट्स ने भी काम करना शुरू कर दिया है.

530 करोड़ रुपये की लागत से बना है CNCI परिसर

कोलकाता स्थित चित्तरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान का यह परिसर 530 करोड़ रुपये की लागत से बना है. जिसमें से लगभग 400 करोड़ रुपया केंद्र और बाकी पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा 75:25 के अनुपात में दिया गया है. इससे संस्थान से देश के पूर्वी और उत्तर-पूर्वी क्षेत्र के कैंसर रोगियों को काफी सुविधा होगी.

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा नया CNCI परिसर

सीएनसीआई पर कैंसर मरीजों का भारी बोझ था और पिछले कुछ समय से इसके विस्तार की जरूरत महसूस की जा रही थी. सीएनसीआई के नये परिसर के बन जाने से उस पर पडऩे वाला बोझ कम होगा. नए परिसर में 460 बिस्तरों वाला व्यापक कैंसर यूनिट होगा जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा. पीएमओ ने कहा कि यह परिसर कैंसर अनुसंधान के एक अत्याधुनिक केंद्र के रूप में भी काम करेगा.

चितरंजन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान भारत का एक कैंसर चिकित्सा अस्पताल है. यह भारत के 25 क्षेत्रीय कैंसर केंद्रों में से एक है. यह संस्थान कोलकाता में जतिन दास पार्क मेट्रो स्टेशन के पास है. इसकी स्थापना महान स्वतन्त्रता सेनानी चित्तरंजन दास की याद में 2 जनवरी 1950 में हुई थी. और तब इसका नाम ‘चित्तरञ्जन कैंसर अस्पताल’ रखा गया था.

पूर्वोत्तर के रोगियों के इलाज में मिलेगी मदद

यहां (CNCI) न्यूक्लियर मेडिसिन, 3.0 टेस्ला एमआरआई, 128 स्लाइस सीटी स्कैनर की सुविधा है. वहीं रेडियोन्यूक्लाइड थेरेपी यूनिट, एंडोस्कोपी सूट, आधुनिक ब्रेकीथेरेपी यूनिट जैसी एडवांस फैसिलिटीज भी हैं. यह कैंपस एक एडवांस्ड कैंसर रिसर्च फैसिलिटी के रूप में भी काम करेगा. इससे खास तौर से देश के पूर्वी और उत्तर-पूर्वी भागों के कैंसर रोगियों के इलाज और देखभाल में काफी मदद मिलेगी.

संबंधित पोस्ट

आरजेडी नेता को सरेआम मारी गोली, फायरिंग से इलाके में फैली दहशत

navsatta

गाड़ियों के कर्कश हार्न से मिलेगी निजात,सुनाई देंगी बांसुरी और वायलिन की धुन!

navsatta

बाहुबली हरिशंकर तिवारी सहित उनके दोनों बेटे सपा में शामिल

navsatta

Leave a Comment