Navsatta
खास खबरदेशस्वास्थ्य

कोरोना का कोहराम: दिल्ली एम्स ने रूटीन भर्ती पर लगायी रोक

नई दिल्ली,नवसत्ता: देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए एम्स निदेशक ने बड़ा फैसला लिया है. एम्स प्रबंधन ने अस्पताल में रूटीन भर्ती पर रोक लगा दी है. इसके साथ ही एम्स में गैर जरूरी सर्जरी भी बंद कर दी गई है.

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को एम्स निदेशक कार्यालय में सभी कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं. जिसमें आठ से ज्यादा कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ गए हैं. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि, दिल्ली में एक दिन में कोरोना के करीब 17 हजार नए केस सामने आये हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 17 फीसदी है.

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने कोरोना संक्रमित स्वास्थ्य कर्मचारियों से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी हासिल की. दिल्ली एम्स पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री ने पहले पीपीई किट को धारण किया और इसके बाद एम्स के न्यू प्राइवेट वार्ड स्थित कोरोना क्षेत्र में प्रवेश किया. इस दौरान उनके साथ एम्स के वरिष्ठ डॉ. अचल श्रीवास्तव भी मौजूद रहे.

कोरोना के 1,17,100 नए मामले
देश में बीते 24 घंटों में कोरोना के 1,17,100 नए मामले सामने आये हैं. वहीं कोरोना से 302 लोगों की मौत हो गई है. जबकि 30,836 मरीज रिकवरी कर अपने घर को लौट गये हैं.

ओमिक्रोन संक्रमितों की संख्या 3 हजार के पार
वहीं अब ओमिक्रोन संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3 हजार के पार हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में ओमिक्रोन के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 3,007 हो गई है. महाराष्ट्र और दिल्ली में ओमिक्रोन के सबसे ज़्यादा 876 और 465 मामले सामने आये हैं. ओमिक्रोन के 3,007 मरीजों में से 1,199 मरीज डिस्चार्ज हो गए हैं.

कोरोना ने मचाया कोहराम
भारत में कोरोना का कोहराम मच गया है. देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार उसी तरह से बढ़ रही है जिस तरह से कोरोना की दूसरी लहर में देखने को मिली थी. बीते दिन गुरूवार को देश भर में कोरोना संक्रमण के 1 लाख 16 हजार से ज्यादा मामले सामने आये. सबसे अधिक मामले महाराष्ट्र में हैं जहां संक्रमितों का आंकड़ा 36 हजार के पार चला गया है. अकेले मुंबई में ही कोरोना संक्रमण के 20 हजार से अधिक मामले सामने आये हैं. इसके अलावा केरल, दिल्ली और तमिलनाडु में भी केसों की संख्या बहुत ज्यादा हैं. दिल्ली में तो संक्रमण दर 15 प्रतिशत से ज्यादा है.

संबंधित पोस्ट

उपजिलाधिकारी ने गांव में जाकर ली स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी

navsatta

हिन्दुस्तान और देश-धर्म को बचाने के लिए गुरुओं ने दिया था सर्वोच्च बलिदान : योगी आदित्यनाथ

navsatta

पंजीकरण करा लिया फिर कोई सुध नहीं

navsatta

Leave a Comment