Navsatta
मुख्य समाचारराज्य

इत्र कारोबारी के पैतृक आवास और कारखाने पर छापा जारी, अब तक 235 करोड़ रुपये बरामद

सुनील वाजपेयी
कानपुर, नवसत्ताः इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर स्थित घर पर कार्रवाही पूरी होने के बाद अब उनके कन्नौज के पैतृक आवास व कारखाने पर छापा समाचार लिखे जाने तक जारी है। इस बीच अबतक महानिदेशालय जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआई) की टीम दोनों घरों से अबतक करीब 235 करोड़ रुपये बरामद कर चुकी है। इसमें कानपुर से राशि 150 करोड़ रुपये से बढ़कर 177 करोड़ रुपये हो गई है, जबकि कन्नौज से 58 करोड़ रुपये बरामद किए जा चुके हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक इसके अलावा काफी मात्रा में जेवरात भी बरामद किए गए हैं। वहीं दूसरे इत्र कारोबारी संदीप मिश्रा उर्फ रानू के घर व कारखाने पर पर 19 घंटे बाद छापा खत्म हो चुका है, यहां से टीम ने कागजात कब्जे में लिये हैं। जीएसटी इटेलिंजेंस के अधिकारी पीयूष जैन को सर्वोदय नगर के ऑफिस में लेकर पहुंचे थे और यहां से फिर उन्हें कहीं पर गोपनीय ढंग से ले गए हैं।

इस दौरान सूत्रों ने यहां बताया कि गुजरात में पान मसाला लदे चार ट्रक पकड़े जाने के बाद सुराग लगने पर महानिदेशालय जीएसटी इंटेलीजेंस (डीजीजीआइ) की टीम को कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के बारे में जानकारी मिली थी। इसके बाद केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआइसी) की टीम ने बीते बुधवार की शाम इत्र कारोबारी के कानपुर स्थित आनंदपुरी आवास में छापा मारा था। यहां टीम को जांच में बड़ी मात्रा में पांच सौ के नोटों की गड्डियां बरामद हुईं, जिनकी गिनती के लिए बैंक से पांच मशीनें मंगाई गईं। कल शुक्रवार रात तक चली नोटों की गिनती में 177 करोड़ रुपये मिलने की बात कही जा रही है।

सूत्रों ने बताया कि यह सारी रकम 47 बक्सों में रखवाकर सील करने के बाद रात ग्यारह बजे रिजर्व बैंक में सुरक्षित रखवाई गई है। वहीं टीम ने शुक्रवार को पीयूष जैन के कन्नौज स्थित पैतृक आवास और कारखाने में भी छापे मारी शुरू की थी, जो दूसरे दिन आज शनिवार दोपहर तक जारी है। वहीं कन्नौज के दूसरे इत्र कारोबारी संदीप मिश्रा उर्फ रानू के घर और प्रतिष्ठान पर भी छापा मारा गया। यहां पर 19 घंटे तक छापेमारी की कार्रवाई के बाद टीम बड़ी मात्रा में कागजात जब्त करके ले गई है।

इस बीच यह भी बताया गया कि कानपुर स्थित आवास पर छापेमारी बंद करके शुक्रवार देर रात करीब दो बजे टीम पीयूष जैन को साथ लेकर निकली थी। सुबह तक सर्वोदय नगर स्थित कार्यालय में पीयूष जैन को बिठाकर जांच करने के बाद करीब छह बजे गोपनीय ढंग से कहीं ले जाने की जानकारी मिल रही है।

याद रहे कि कल शुक्रवार की शाम के करीब 4रू00 बजे इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कन्नौज में छिपट्टी मोहल्ला स्थित पैतृक आवास पर टीम पहुंची थी और बीते 20 घंटे से छापेमारी जारी है। मकान के अंदर से टीम को कितनी रिकवरी हुई, इसकी कोई अधिकृत जानकारी नहीं दी गई है लेकिन यहां अबतक 58 करोड़ रुपये बरामद होने की बात कही जा रही है।

घटना के 24 घंटे के भीतर माल समेत गिरफ्तार शातिर को भेजा जेल

कानपुर, नवसत्ता: अपराधियों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई के मामले में अव्वल चल रही सीसामऊ पुलिस ने घटना के 24 घंटे के भीतर ही हुई घटना का सटीक सफल खुलासा कर शातिर चोर को भी गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। उसने उसके कब्जे से लाखों रुपए कीमत का माल भी बरामद किया है ,जिसमें एक लैपटॉप ,एक स्मार्ट फोन, एक हार्ड डिस्क, एक पेन ड्राइव और एक मेमोरी कार्ड भी शामिल है।
पुलिस ने बताया कि पकड़े जाने के 24 घंटे पहले ही शातिर ने इस घटना को अंजाम दिया। उसने जरीब चैकी के पास ई रिक्शा में बैठी सवारी के साथ इस घटना को अंजाम दिया था। वह उसका लैपटाप वाला बैग चोरी करके फरार हो गया था, जिसका मुकदमा दर्ज कराये जान के बाद कानून व शांति व्यवस्था के पक्ष में अपराधियों के खिलाफ लगातार सफल मोर्चा खोले थाना प्रभारी सूर्यबली पांडेय की अगुवाई वाली सीसामऊ पुलिस घटना के सटीक खुलासे के लिए लगातार सक्रिय थी।
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बर्रा आठ निवासी विकास चैहान नामक यह शातिर चोर पुलिस के हत्थे उस समय चढ़ गया जब अपनी जुझारू नौकरी के अबतक के कार्यकाल में इसके पहले भी संगीन घटनाओं के सटीक खुलासे के साथ ही दर्जनों शातिर अपराधियों को सबक सिखा चुके और साधारण सूचनाओं पर भी खुद मौके पर पहुंचकर तत्काल प्रभावी कार्रवाई तथा पीड़ितों की सहायता के लिए भी चर्चित निष्पक्ष और पारदर्शी कार्यशैली के जुझारू इंस्पेक्टर सूर्यबली पांडेय की अगुवाई वाली पुलिस टीम गश्त पर निकली हुई थी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार इसी दौरान मुखबिर के जरिए मिली सटीक सूचना के आधार पर घटना को अंजाम देने के 24 घंटे के अंदर ही शातिर चोर बर्रा आठ निवासी विकास चैहान को फरार होने के पहले ही निर्दोष फंसे नहीं और दोषी बचे नहीं जैसी लोकहित विचारधारा के अनुरूप अपने कर्तव्य का पालन पूर्ण निष्ठा से करने के साथ ही हर मामले की जांच भी पूर्ण निष्पक्षता और पारदर्शिता के साथ करने के लिए चर्चित भगवान और भाग्य यानी कर्म भरोसे रहने वाले तेजतर्रार , व्यवहार कुशल ,कठोर परिश्रमी जुझारू तेवरों वाले इंस्पेक्टर सूर्यबली पांडेय ने गिरफ्तार कराने में सफलता प्राप्त कर ली। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किये गये इस शातिर चोर के कब्जे से एक लैपटॉप ,एक स्मार्ट फोन, एक हार्ड डिस्क, एक पेन ड्राइव और एक मेमोरी कार्ड भी बरामद किया गया है।

संबंधित पोस्ट

देश में आज कोरोना के मामलों में गिरावट, 6561 नए मामले आए सामने

navsatta

डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के दामाद हुये साइकिल सवार

navsatta

विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार का बड़ा तोहफा, कर्मचारियों का बढ़ाया डीए, नियमित होंगे संविदाकर्मी

navsatta

Leave a Comment