Navsatta
खास खबर देश फाइनेंस विदेश

चीनी मोबाइल कंपनियों के अधिकारियों के ठिकानों पर आईटी विभाग की छापेमारी

नई दिल्ली,नवसत्ता: आयकर विभाग ने चीनी मोबाइल कंपनी ओप्पो ग्रुप और Xiaomi ग्रुप के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. विभाग ने समूहों से जुड़े कई वरिष्ठ अधिकारियों, निदेशकों, सीएफओ सहित अन्य अधिकारियों के ठिकानों पर छापे मारे हैं. सुबह 9 बजे से दिल्ली, नोएडा, गुरुग्राम, मुंबई, हैदराबाद, बंगलौर सहित कई शहरों में तलाशी हो रही है. इससे पहले मंगलवार को खबर आई थी कि नेपाल ने भी कई चीन की कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है.

केंद्र सरकार ने संसद में बताया था कि देश में फिलहाल 80 चीनी कंपनियां सक्रिय रूप से कारोबार कर रही हैं. भारत में 92 चीनी कंपनियां रजिस्टर्ड हैं, जिनमें से 80 कंपनियां हैं जो ‘सक्रिय’ रूप से कारोबार करती हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में स्मार्टफोन बाजार करीब 2.5 लाख करोड़ रुपये का है. इसमें 70 फीसदी हिस्सेदारी चीनी की कंपनियों के प्रोडक्ट का है. वहीं, भारत में टेलीविजन का मार्केट करीब 30,000 करोड़ रुपये का है. इसमें चीन की कंपनियों की स्मार्ट टीवी की हिस्सेदारी करीब 45 फीसदी है. नॉन स्मार्ट टीवी की हिस्सेदारी करीब 10 फीसदी है. सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर के गुरुग्राम, रेवाड़ी में ये छापेमारी हो रही है. दिल्ली यूनिट और बेंगलुरू यूनिट द्वारा छापेमारी की जा रही है.

आपको बता दें कि नेपाल के एयरपोर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट प्रॉजेक्ट में हिस्सा लेने पर भी रोक लगा दी गई है. चीन समर्थित अलग-अलग तीन कंपनियों-चीन सीएमसी इंजीनियरिंग कंपनी, नॉर्थवेस्ट सिविल एविएशन एयरपोर्ट कंस्ट्रक्शन ग्रुप और चाइना हार्बर इंजीनियरिंग कंपनी को विभिन्न अपराधों में संलिप्त पाए जाने के बाद ब्लैकलिस्ट कर दिया है.

इसके अलावा अमेरिका नवंबर में चीन की करीब 13 कंपनियों पर प्रतिबंध लगा चुका है. इन कंपनियों को अमेरिकी कारोबार करने से पूरी तरह रोक दिया गया है. इन्हें ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है.

अमेरिका की ओर से जारी बयान में बताया गया था कि ये कंपनियां चीनी सेना को उनके मिलिट्री एप्लिकेशन में मदद करने के लिए अमेरिकी ऑरिजिन की वस्तुओं को हासिल करने की कोशिश कर रही थी.

आपको बता दें कि चीनी कंपनियों पर पहले भी चीन की सेना की मदद करने का आरोप लग चुका है. कुछ कंपनियों पर पूर्व चीन की सेना के लिए जासूसी करने के भी आरोप भी लगे हैं.

संबंधित पोस्ट

यमुना एक्सप्रेसवे पर दर्दनाक हादसा, चार सिपाहियों सहित पांच की मौत, तीन घायल

navsatta

अब तीन हजार में कर सकेंगे वर्ल्ड क्लास क्रूज की सैर

navsatta

अधिकारियों की चिट्ठी से खुलता जल जीवन मिशन का काला चिट्ठा

navsatta

Leave a Comment