Navsatta
अपराधखास खबरदेशमुख्य समाचार

केरल में भाजपा नेता रंजीत श्रीनिवासन की हत्या, 24 घंटे में दो मर्डर से तनाव

तिरूवनंतपुरम,नवसत्ता: केरल में 12 घंटे के अंदर दो राजनीतिक नेताओं की हत्या से हड़कंप मच गया है. अलप्पुझा में रविवार को बीजेपी ओबीसी मोर्चा के राज्य सचिव रंजीत श्रीनिवास की कथित तौर पर हत्या कर दी गई.

बताया जा रहा है कि श्रीनिवास सुबह मॉर्निंग वॉक के लिए तैयार हो रहे थे. इसी दौरान हमलावरों ने उनके घर में घुसकर उनकी बेरहमी से पिटाई के बाद गला रेतकर हत्या कर दी. सूत्रों ने बताया कि श्रीनिवास की मौके पर ही मौत हो गई थी.

वहीं एसडीपीआई के स्टेट सेक्रेटरी के एस शान पर शनिवार रात कुछ लोगों ने हमला किया. शान बाइक से घर लौट रहे थे, इसी दौरान एक कार ने उन्हें टक्कर मार दी. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

बता दें कि रंजीत 2016 के विधानसभा चुनाव में अलाप्पुझा निर्वाचन क्षेत्र से बीजेपी के उम्मीदवार थे. वह पेशे से वकील थे. जानकारी के मुताबिक, अलाप्पुझा जिले में आज तड़के बीजेपी नेताओं के ही एक समूह ने उनके घर में घुसकर इस हत्या की वारदात को अंजाम दिया है. आज सुबह कुछ लोगों का एक समूह 40 वर्षीय श्रीनिवास के घर पहुंचा था. जिसके बाद इन लोगों ने दरवाजा खटखटाया. जैसे ही श्रीनिवास ने दरवाजा खोला, तैसे ही घात लगाए बैठे आरोपियों ने रंजीत श्रीनिवास की गला रेत कर और पीटकर हत्या कर दी.

घटना के बाद जिले में धारा 144 लागू
इस घटना के बाद जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है. मुख्यमंत्री ने इस घटना की कड़ी निंदा की है. वहीं, केरल के केंद्रीय मंत्री वी मुरलीधरन का इस घटना पर बयान सामने आया है. उन्होंने कहा, ‘मुझे बताया गया है कि आज सुबह बीजेपी ओबीसी मोर्चा के राज्य सचिव की चाकू मारकर हत्या कर दी गई.

यह इस्लामिक आतंकवादी समूह का काम है, यह जानकारी एलेप्पी (अलाप्पुझा) से आ रही है. मैं राज्य सरकार से मांग करता हूं कि अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए. उन्होंने आगे कहा, यह पहली घटना नहीं है, कुछ हफ्ते पहले पलक्कड़ में एक बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई थी. राज्य ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए आवश्यक कार्रवाई नहीं की है. इसके बजाय, वे इस्लामी आतंकवादियों के साथ नरम रुख अपना रहे हैं, जिसने उन्हें और अधिक हिंसा में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया है.

हत्या में शामिल 11 आरोपी गिरफ्तार
पुलिस के मुताबिक बीजेपी नेता की हत्या के मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इनमें से कुछ के सीधे तौर पर मामले में शामिल होने की आशंका जताई जा रही है. बहरहाल श्रीनिवास के शव को फिलहाल अस्पताल में रखा गया है. पोस्टमॉर्टम के बाद उनके पार्थिव शरीर को उनके घर लाया जाएगा. वहीं, सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के राज्य स्तरीय 38 वर्षीय नेता की भी शनिवार को एक अज्ञात गिरोह ने बेरहमी से हत्या कर दी. एसडीपीआई के राज्य सचिव शान केएस को एक गिरोह ने चाकू मारकर मौत के घाट उतार डाला. यह दोनों हत्याएं 12 घंटे के भीतर हुईं हैं.

हमलावरों ने कई बार चाकू से किया वार
पुलिस सूत्रों ने बताया कि एसडीपीआई नेता पर उस समय हमला किया गया, जब वह अपने स्कूटर से मन्नाचेरी स्थित अपने घर को लौट रहे थे. पुलिस ने कहा कि एक कार में आए हमलावरों ने पहले शान केएस के स्कूटर को बुरी तरह से टक्कर मारी. इसके बाद जब शान स्कूटर से नीचे गिर गए, तब हमलावरों ने कई बार चाकू से वार कर उनकी बेरहमी से हत्या कर दी. पुलिस के मुताबिक, एसडीपीआई नेता को हमले में कई फ्रैक्चर आए थे और सिर में भी गहरी चोटें लगी थीं. जिसके बाद उन्हें एर्नाकुलम के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, हालांकि चोट गहरी होने की वजह से बाद में उनकी मौत हो गई. उनके परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं.

संबंधित पोस्ट

बिना इंटरलॉकिंग निर्माण ही करा लिया पांच लाख का भुगतान

navsatta

राहुल गांधी झूठ बोल कर खुद की विश्वसनीयता गिराते हैं : पुरी

navsatta

अतीक-अशरफ हत्या मामले की जांच करेंगे हाईकोर्ट के पूर्व न्यायमूर्ति, तीन सदस्यीय न्यायिक आयोग का गठन

navsatta

Leave a Comment