Navsatta
खास खबरचुनाव समाचारमुख्य समाचारराजनीतिराज्य

GANGA EXPRESS WAY का पीएम मोदी ने किया शिलान्यास

NARENDRA MODI ON GANGA EXPRESS WAY

शाहजहांपुर,नवसत्ता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को शाहजहांपुर में 36,200 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले 594 किलोमीटर लंबे गंगा एक्सप्रेस वे (GANGA EXPRESS WAY) का शिलान्यास कर दिया. प्रधानमंत्री ने कहा, मेरठ से प्रयागराज तक जाने वाले गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण से विकास के नए द्वार खुलेंगे. गंगा एक्सप्रेसवे के शिलान्यास के मौके पर पीएम मोदी सबसे पहले मंच पर आकर सीएम योगी समेत कैबिनेट के मंत्रियों से मुलाकात की. उन्होंने मंच से ही शाहजहांपुर और उत्तर प्रदेश की जनता का अभिभादन किया.

GANGA EXPRESS WAY: प्रधानमंत्री का संबोधन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सम्बोधन में का कि हमारे यहां कुछ राजनीतिक दल ऐसे रहे हैं, जिन्हें देश के विकास से दिक्कत है. इन्हें अपनी वोट बैंक की चिंता ज्यादा सताती है. इन्हें काशी और अयोध्या के विकास से दिक्कत है. गंगा की सफाई से दिक्कत है.

CM YODI PM MODI

पश्चिम यूपी की कानून व्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री ने कहा कि यहां सूरज डूबते ही कट्टा लहराने वाले सड़क पर नजर आते थे. किन्तु अब ऐसा नहीं है. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने 2 लाख करोड़ रुपए गरीबों के पक्के घर बनाने के लिए स्वीकृत किए हैं. आज गरीब का दर्द समझने वाली, गरीब का साथ देने वाली सरकार बनी है. विकास का ऐसा ही काम गरीब, दलित, पिछड़े का जीवन बदलता है. काकोरी से क्रांति की अलख जगाने वाले राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक उल्लाह खान को मैं नमन करता हूं. मुझे इस मिट्टी को माथे पर लगाने का सौभाग्य मिला है.

GANGA EXPRESS WAY FOUNDATION

साथियों सहयोग से कल ही पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक और रोशन का बलिदान दिवस है. उन्हें 19 दिसंबर को फांसी की सजा दी गई थी. उनका हमारे ऊपर बहुत बड़ा कर्ज है. आज उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े एक्सप्रेस वे पर काम शुरू हो रहा है. राम चरित मानस में कहा गया है कि मां गंगा सारे मंगलों की, सारी प्रगति का सुख देती है. और सामाजिक पीड़ा हर लेती है.

CROWD IN PM MODI RALLY

प्रधानमंत्री (NARENDRA MODI) ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में यूपी की ताकत बढ़ रही है. 21वीं सदी में हाई स्पीड की कनेक्टिविटी बहुत जरूरी है. इस एक्सप्रेस-वे से एयरपोर्ट को जोड़ा जाएगा, मेट्रो को जोड़ा जाएगा. हम सबका साथ, सबके विकास के लिए यूपी में जी जान से जुटे हुए हैं. पहले ऐसी परियोजनाएं कागज पर शुरू होती थीं, ताकि वो लोग अपनी तिजोरी भर सकें. हमारी सरकार दिन रात गरीबों के लिए काम करती है. मेरी सरकार ने 30 लाख गरीबों को मकान दिया है.

GANGA EXPRESS WAY: शिलान्यास से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ का ट्वीट
सीएम योगी ने गंगा एक्सप्रेसवे के शिलान्यास से पहले ट्वीट किया. उन्होंने ट्वीट में लिखा- गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, बदायूं, सम्भल, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज से गुजरेगा. 594 किमी लंबा एक्सप्रेसवे 6 लेन का होगा. जिसे बाद में 8 लेन का बनाया जाएगा.

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण से हजारों युवकों को नौकरी मिलेगी. यह एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के विकास के अच्छे दिन लेकर आएगा. इस एक्सप्रेसवे से यूपी का सर्वांगीण विकास होगा.

बता दें कि इस एक्सप्रेसवे परियोजना में लगभग 140 नदी/धारा/नहर/नाला, शामिल हैं. इसके अलावा इस एक्सप्रेसवे पर 07 ओवरब्रिज, 14 बड़े पुल, 126 छोट पुल, 28 फ्लाईओवर और 946 पुलियों का निर्माण किया जाना प्रस्तावित है.

इस एक्सप्रेसवे के निर्माण से रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे. अनुमान के मुताबिक इस एक्सप्रेसवे परियोजना के निर्माण के दौरान लगभग 12 हजार व्यक्तियों को अस्थायी रूप से नियोजित किया जाएगा जबकि टोल प्लाजा के निर्माण से लगभग 100 व्यक्तियों को स्थायी नौकरी मिलेगी.

गंगा एक्सप्रेसवे से भी उड़ सकेंगे राफेल और मिराज!
‘एक्सप्रेस-वे पर शाहजहांपुर में 3.5 किमी लंबी हवाई पट्टी बनाई जाएगी, जो आपातकालीन स्थिति में वायु सेना के विमानों को उड़ान भरने और उतरने में सहायता प्रदान करेगी.’ एयर स्ट्रिप को लेकर यूपीडा और वायु सेना के अधिकारी मंथन कर रहे हैं. वहीं एक्सप्रेसवे पर मिराज 2000, जगुआर, सुखोई 30 और सुपर हरक्यूलस जैसे जहाज असानी से लैंड कर सकेंगे.

GANGA EXPRESS WAY

बता दें कि गंगा एक्सप्रेसवे को 26 नवंबर 2020 में मंजूरी मिली थी. ये तीसरी एयर स्ट्रिप है, जो प्रदेश में एक्सप्रेसवे पर बनकर तैयारी होगी. इस पर हर श्रेणी का जहाज उतारा जा सकता है.

गंगा एक्सप्रेसवे का निर्माण 2024 तक पूरा हो जाएगा. इससे पहले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर एयर स्ट्रिप पहले से ही तैयार है. उत्तर प्रदेश की इन तीनों हवाई पट्टियों से वायु सेना पाकिस्तान और चीन के खिलाफ जंग की सूरत में प्रतिक्रिया दे सकती हैं. इमरजेंसी और जंग जैसे हालात में वायुसेना के विमान यहां लैंड और टेकऑफ कर सकेंगे.

https://navsatta.com/

संबंधित पोस्ट

मायावती ने की सपा के ‘पीडीए’ माडल की व्याख्या

navsatta

इत्र कारोबारी मामला: डीजीजीआई ने 177 करोड़ की नकदी को माना टर्नओवर,जमानत की राह आसान

navsatta

गुजरात के बाद राजस्थान में तबाही मचाने की तैयारी में बिपरजॅाय चक्रवात

navsatta

Leave a Comment