Navsatta
खास खबर चर्चा में देश राजनीति राज्य

यूपी को मिली 5वें इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सौगात

जेवर एयरपोर्ट का पीएम मोदी ने किया शिलान्यास

जेवर भी अंतरराष्ट्रीय मानचित्र पर अंकित हुआ

विमानों के रख-रखाव का केंद्र होगा जेवर एयरपोर्ट

नोएडा,नवसत्ता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर के जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का शिलान्यास किया. खास बात यह कि यह प्रदूषण से मुक्त होगा और यूपी अब 5 अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा. जेवर में बन रहा यह एयरपोर्ट दिल्ली-एनसीआर में दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा और इसके बनने के बाद इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर दबाव भी कम हो जाएगा. साथ ही ये एयरपोर्ट विमानों के रख-रखाव का भी केंद्र होगा.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में एयरपोर्ट का शिलान्यास हुआ. इसका पहला चरण 2023-24 में पूरा होगा.

पीएम मोदी ने शिलान्यास के बाद जनता को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि देश के लोगों को, यूपी के भाई-बहनों को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के भूमि पूजन की बहुत-बहुत बधाई. इस एयरपोर्ट के भूमि पूजन के साथ ही जेवर भी अंतरराष्ट्र्रीय मानचित्र पर अंकित हो गया है. इसका बहुत बड़ा लाभ दिल्ली-एनसीआर और पश्चिमी यूपी के करोड़ों लोगों को होगा. 21वीं सदी का नया भारत आज एक से बढ़कर एक बेहतरीन आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है. बेहतर सड़कें, बेहतर रेल नेटवर्क, बेहतर एयरपोर्ट ये सिर्फ इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स ही नहीं होते बल्कि ये पूरे क्षेत्र का कायाकल्प कर देते हैं, लोगों का जीवन पूरी तरह से बदल देते हैं.

Advertisement

दो दशक पहले इस प्रोजेक्ट का सपना देखा था
इन्फ्रास्ट्रक्चर हमारे लिए राजनीति का नहीं बल्कि राष्ट्रनीति का हिस्सा है. हम ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रोजेक्ट्स अटके नहीं, लटके नहीं, भटके नहीं. हम ये सुनिश्चित करने का प्रयास करते हैं कि तय समय के भीतर ही इन्फ्रास्ट्रक्चर का काम पूरा किया जाए. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट उत्तरी भारत का लॉजिस्टिक गेटवे बनेगा. ये इस पूरे क्षेत्र को नेशनल गतिशक्ति मास्टरप्लान का एक सशक्त प्रतिबिंब बनाएगा.

रोजग़ार के अवसर प्राप्त होंगे
हवाई अड्डे के निर्माण के दौरान रोजग़ार के हजारों अवसर बनते हैं. हवाई अड्डे को सुचारु रूप से चलाने के लिए भी हज़ारों लोगों की आवश्यकता होती है. पश्चिमी यूपी के हजारों लोगों को ये एयरपोर्ट नए रोजगार भी देगा.

पहले की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को अभाव और अंधकार में बनाए रखा
आजादी के 7 दशक बाद, पहली बार उत्तर प्रदेश को वो मिलना शुरु हुआ है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है. डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से, आज उत्तर प्रदेश देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में परिवर्तित हो रहा है. पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को अभाव और अंधकार में बनाए रखा. पहले की सरकारों ने जिस उत्तर प्रदेश को हमेशा झूठे सपने दिखाए.

Advertisement

वही उत्तर प्रदेश आज राष्ट्रीय ही नहीं, अंतर्राष्ट्रीय छाप छोड़ रहा है. अब डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज हम उसी एयरपोर्ट के भूमिपूजन के साक्षी बन रहे हैं. लेकिन बाद में ये एयरपोर्ट अनेक सालों तक दिल्ली और लखनऊ में पहले जो सरकारें रहीं, उनकी खींचतान में उलझा रहा. यूपी में पहले जो सरकार थी उसने तो बाकायदा चिट्ठी लिखकर, तब की केंद्र सरकार को कह दिया था कि इस एयरपोर्ट के प्रोजेक्ट को बंद कर दिया जाए. यूपी में और केंद्र में पहले जो सरकारें रहीं, उन्होंने कैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास को नजरअंदाज किया, उसका एक उदाहरण ये जेवर एयरपोर्ट भी है.

पश्चिमी यूपी में लाखों-करोड़ों के प्रोजेक्ट चल रहे
पीएम मोदी ने कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी लाखों करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स पर काम चल रहा है. रैपिड रेल कॉरिडोर हो, एक्सप्रेस वे हो, मेट्रो कनेक्टिविटी हो, पूर्वी और पश्चिमी समंदर से उत्तर प्रदेश को जोड़ने वाले डेडिकेटेड फ्रंट कॉरिडोर हों. ये आधुनिक होते उत्तर प्रदेश की नई पहचान बन रहे हैं.

7 दशक बाद यूपी को वो मिला, जिसका वो हकदार
पीएम मोदी ने कहा कि आज़ादी के 7 दशक बाद, पहली बार उत्तर प्रदेश को वो मिलना शुरु हुआ है, जिसका वो हमेशा से हकदार रहा है. डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से, आज उत्तर प्रदेश देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में परिवर्तित हो रहा है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित पोस्ट

बागपत में मां ने की अपने दो बच्चों की हत्या

navsatta

कानपुर बिकरू कांड: हाई कोर्ट में खुशी दुबे की जमानत अर्जी पर टली सुनवाई

navsatta

अतीक अहमद की पत्नी कानपुर से लड़ेंगी विधानसभा चुनाव, ओवैसी देंगे टिकट

navsatta

Leave a Comment