Navsatta
खास खबरचर्चा मेंदेशराजनीति

कंगना पर बवाल: ‘भीख में मिली आजादी’ वाले बयान पर चौतरफा घिरी एक्ट्रेस

मुंबई,नवसत्ता : हाल ही में बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने एक टीवी कार्यक्रम में भारत और इसकी स्वतंत्रता के बारे में बात की और उनकी टिप्पणी ने कई लोगों को नाराज कर दिया. टाइम्स नाउ समिट में कंगना ने कहा कि कांग्रेस ब्रिटिश शासन का विस्तार है और भारत ने 2014 में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री के रूप में चुने जाने के बाद वास्तविक स्वतंत्रता हासिल की. जिसके बाद से कंगना लगातार विवादों के घेरे में हैं. इस बयान को लेकर कंगना का सोशल मीडिया पर भी जोरदार विरोध हो रहा है और लोगों ने कंगना पद्मश्री वापस करो को ट्विटर पर ट्रेंड करा दिया है. ट्रेंड कराने वाले लोगों का कहना है कि भीख में पुरस्कार मिल सकते हैं लेकिन आजादी नहीं. फ़ेसबुक पर भी कंगना के बयान को लेकर उन्हें जमकर घेरा जा रहा है. इन सबके बीच भाजपा सांसद वरुण गांधी ने कंगना रनौत पर जमकर हमला बोला है.

वरुण गांधी ने कहा- इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह?
राजनेता और भाजपा सांसद वरुण गांधी ने एक ट्वीट में कंगना रनौत के बयान की आलोचना की. उन्होंने ट्वीट किया, ‘कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार. इस सोच को मैं पागलपन कहूँ या फिर देशद्रोह?’

कंगना ने दिया ट्वीट का जवाब
कंगना ने इंस्टाग्राम पर उनकी टिप्पणी का जवाब देते हुए लिखा, मैंने साफतौर पर कहा है कि 1857 की स्वतंत्रता संग्राम पहली क्रांति थी जिस पर अंकुश लगाया गया था इसके परिणामस्वरूप अंग्रेजों की क्रूरता और बढ़ गई.’ एक शताब्दी के बाद गांधी जी के कटोरे में हमें भीख दे दी गई… जा और रो अब’

जीतन राम मांझी की बहू का चैलेंज, कहा- औकात है तो बिहार में बोलकर दिखाओ
अब कंगना पर जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी ने निशाना साधा है और उन्हें शूर्पणखा की बहन कहा है, साथ ही कंगना को बिहार में ऐसा बोलने का चैलेंज दिया है.

जीतन राम मांझी की बहू दीपा मांझी ने लिखा- ई कंगना रणौत के पता नहीं है कि एकरा जईसन कलमुही के हमनी बिहारी गोबर पाथे लायक नहीं बुझते हैं. पद्म सम्मान मिल गया तो शहीदों को ही अपमानित करने लगी. अरे हो देशद्रोही कंगना, औकात है तो ई भाषा बिहार में बोलकर दिखाव, मुंह कीचड़ में ना डुबा दिया तो कहना.लतखोर! .शूर्पणखा की बहन कंगना.

कंगना के खिलाफ मुंबई में शिकायत दर्ज
इधर कंगना के खिलाफ आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य प्रीति शर्मा मेनन ने मुंबई में शिकायत दर्ज करवाई है. उन्होंने एक्ट्रेस के इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की अपील की. उन्होंने ट्वीट कर जानकारी दी है कि पुलिस को एक आवेदन जमा किया गया है जिसमें कंगना के इस भड़काऊ और देशद्रोही बयान के लिए धारा 504, 505 और 124 ए के तहत कार्रवाई का अनुरोध किया गया है.

कांग्रेस प्रवक्ता ने की पद्मश्री वापस लेने की मांग
कंगना की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा, ‘मैं मांग करता हूं कि कंगना रनौत को अपने बयान के लिए सभी देशवासियों से माफी मांगनी चाहिए, क्योंकि हमारे स्वतंत्रता आंदोलन और स्वतंत्रता सेनानियों को अपमान हुआ है. भारत सरकार को ऐसी महिला से पद्मश्री सम्मान वापस लेना चाहिए, जिसने महात्मा गांधी, सरदर पटेल, सुभाष चंद्र बोस, पंडित नेहरू, सरदार भगत सिंह का अपमान किया है.

लगता है कि उन्होंने मलाना का हैवी डोज लिया है: नवाब मलिक
वहीं महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, हम कंगना के बयान का विरोध करते हैं. उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है. केंद्र को इस मामले में तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए और पद्मश्री वापस लेना चाहिए साथ ही कंगना रनौत को गिरफ्तार भी किया जाना चाहिए. उन्होंने इस प्रेस कॉफ्रेंस में यह भी कह दिया कि ऐसा बयान देने से पहले ऐसा लगता है कि उन्होंने मलाना (हसीस, ड्रग्स का एक प्रकार) का हैवी डोज लिया है.

पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने राष्ट्रपति से की मांग
एक्ट्रेस कंगना रनौत का आजादी को लेकर दिए गए विवादित बयान से नाराज पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा है कि राष्ट्रपति भवन को रनौत से पद्म पुरस्कार वापस ले लेना चाहिए. उन्होंने रनौत के बयान को निंदनीय और चौंकाने वाला बताया.

आनंद शर्मा ने तीन ट्वीट किए और लिखा, निंदनीय और पूरे देश को चौंकाने वाला. सुश्री कंगना रनौत का बयान महात्मा गांधी, पंडित नेहरू और सरदार पटेल जैसे साहसी स्वतंत्रता सेनानियों और सरदार भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद और कई अन्य क्रांतिकारियों के बलिदान का अपमान करता है.

Posted By: Ruchi Mishra

संबंधित पोस्ट

दिग्गज उत्तर भारतीयों ने ग्रहण की भाजपा की सदस्यता

navsatta

जेल से बाहर आएंगे अरविंद केजरीवाल,सुप्रीम कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

navsatta

बालासोर ट्रेन हादसे में शीर्ष न्यायालय में जनहित याचिका दायर

navsatta

Leave a Comment