Navsatta
खास खबर देश मुख्य समाचार राजनीति राज्य

इंडियन स्पेस एसोसिएशन से देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम को मिलेगी नई ऊंचाई: पीएम मोदी

नई दिल्ली,नवसत्ता : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज इंडियन स्पेस एसोसिएशन का वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शुभारंभ किया. इस दौरान उन्होंने स्पेस इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों से बातचीत भी की. पीएम मोदी ने कहा कि इंडियन स्पेस एसोसिएशन से देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम को एक नई ऊंचाई मिलेगी और आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना भी साकार होगा. साथ ही ये अंतरिक्ष के क्षेत्र में देश को अग्रणी खिलाड़ी के रूप में स्थापित करने में मदद करेगा. अंतरिक्ष और उपग्रह से जुड़ी कंपनियां इस एसोसिएशन की सदस्य होंगी.

पीएम मोदी ने कहा, आज जितनी निर्णायक सरकार भारत में है, उतनी पहले कभी नहीं रही. स्पेस सेक्टर और स्पेस टेक को लेकर आज भारत में जो बड़े सुधार हो रहे हैं, वो इसी की एक कड़ी है. मैं इंडियन स्पेस एसोसिएशन-इस्पा के गठन के लिए आप सभी को एक बार फिर बधाई देता हूं.

एफिशिएंसी की ब्रांड वैल्यू को हमें और निखारना होगा

Advertisement

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि भारत में अपार क्षमता और संभावना है. एफिशिएंसी की ब्रांड वैल्यू को हमें और निखारना होगा. इसको निरंतर प्रमोट करना होगा. अपने दम पर जब भारत आगे बढ़ेगा तो वैश्विक स्तर पर भारत आगे बढ़ेगा. इस काम में सरकार हर कदम पर आपके साथ खड़ी है. सरकार पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज को लेकर एक स्पष्ट नीति के साथ आगे बढ़ रही है और जहां सरकार की आवश्यकता नहीं है, ऐसे ज्यादातर सेक्टर्स को प्राइवेट एंटरप्राइजेज के लिए खोल रही है.

भारत को ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना सरकार का लक्ष्य

सरकार ने जो अभी एयर इंडिया से जुड़ा फैसला लिया गया है वो हमारी प्रतिबद्धता और गंभीरता को दिखाता है. सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम (पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज) को लेकर सरकार एक स्पष्ट नीति के साथ आगे बढ़ रही है और जहां सरकार की आवश्यकता नहीं है, ऐसे ज्यादातर सेक्टर्स को प्राइवेट एंटरप्राइजेज के लिए खोल रही है. सरकार का लक्ष्य भारत के उद्यमियों, भारत के युवाओं के स्किल की क्षमताओं को बढ़ाकर, भारत को ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग हब बनाना है.
भारतीय स्पेस सेक्टर, 130 करोड़ देशवासियों की प्रगति का एक बड़ा माध्यम है. हमारे लिए स्पेस सेक्टर यानी, सामान्य मानवी के लिए बेहतर मैपिंग, इमेजिंग और कनेक्टिविटी की सुविधा! उद्योगपतियों के लिए ये एक शिपमेंट से लेकर डिलीवरी तक बेहतर स्पीड देना है.

Advertisement

21वीं सदी का भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है

पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का भारत आज जिस अप्रोच के साथ आगे बढ़ रहा है, जो रिफॉर्म कर रहा है उसका आधार है, भारत के सामर्थ्य पर अटूट विश्वास. इस सामर्थ्य के आगे आने वाली हर रुकावट को दूर करना हमारी सरकार का दायित्व है और इसके लिए सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है.

सरकार का बीते वर्षों में फोकस नई टेक्नोलॉजी से जुड़ी रिसर्च और डेवलपमेंट के साथ ही उसको सामान्य जन तक पहुंचाने तक भी रहा है. पिछले सात साल में तो स्पेस टेक्नोलॉजी को सरकार ने लास्ट माई डिलीवरी, लीकेज फ्री और ट्रांसपेंरेट गर्वनेंस का अहम टूल बनाया है.

Advertisement

प्रधानमंत्री ने जय प्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख को याद किया

कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने जय प्रकाश नारायण और नानाजी देशमुख को भी याद किया. उन्होंने कहा, ‘आज देश के दो महान सपूतों, भारत रत्न जय प्रकाश नारायण जी और भारत रत्न नानाजी देशमुख की जन्म जयंती भी है. आजादी के बाद के भारत को दिशा देने में इन दोनों महान व्यक्तित्वों की बहुत बड़ी भूमिका रही है. सबको साथ लेकर, सबके प्रयास से, राष्ट्र में कैसे बड़े-बड़े परिवर्तन आते हैं, इनका जीवन दर्शन हमें आज भी इसकी प्रेरणा देता है. मैं जय प्रकाश नारायण जी और नानाजी देशमुख जी को नमन करता हूं, अपनी श्रद्धांजलि देता हूं.’

Advertisement
After content
Advertisement

संबंधित पोस्ट

पंचायत चुनाव: चौथे चरण में 17 जिलों में पड़ेंगे वोट

navsatta

घूस की टिप्स बताने वाले थानेदार पर भ्रष्टाचार का मुकदमा, घूस मांगने वाले पर आखिर रहमत क्यों ?

navsatta

80 रेल कर्मियों का हुआ कोविड टीकाकरण

navsatta

Leave a Comment