Navsatta
अपराधखास खबरचर्चा मेंराजनीतिराज्य

भाजपा सांसद वरूण गांधी ने की लखीमपुर हिंसा के आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग

लखीमपुर खीरी,नवसत्ता : यूपी के लखीमपुर में रविवार को किसानों पर गाड़ी चढ़ाने के बाद भड़की हिंसा में कुल 8 लोगों की मौत हुई है जिनमें से एक स्थानीय पत्रकार भी शामिल है. मारे गए लोगों में 4 किसान, 2 बीजेपी कार्यकर्ता, 1 अजय मिश्रा का ड्राइवर और एक स्थानीय पत्रकार शामिल है. जिस पर भाजपा सांसद वरूण गांधी ने दुख जताया है.

उन्होंने ट्वीटर के माध्यम से कहा है कि आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की जाए. उन्होंने एक वीडियो ट्वीट कर लिखा है कि- लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ियों से जानबूझकर कुचलने का यह वीडियो किसी की भी आत्मा को झखझोर देगा. पुलिस इस वीडियो का संज्ञान लेकर इन गाड़ियों के मालिकों, इनमें बैठे लोगों और इस प्रकरण में संलिप्त अन्य व्यक्तियों को चिन्हित कर तत्काल गिरफ्तार करे.

बता दें कि रविवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य तय कार्यक्रम के तहत लखीमपुर खीरी के दौरे पर थे. कथित तौर पर केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा ने किसानों के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी थी जिसके बाद हिंसा भड़क गई. 4 किसानों की मौत हो गई और बदले में किसानों की भीड़ ने ड्राइवर और दो बीजेपी कार्यकर्ताओं को पीट-पीटकर मार दिया. इस मामले में आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या का केस दर्ज हो चुका है.

हिंसा में मारे गए लोगों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने
इसी बीच लखीमपुर में मारे गए चार किसानों, दो बीजेपी कार्यकर्ता, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के ड्राइवर और स्थानीय पत्रकार की मौत की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आ गई है. डॉक्टरों के पैनल द्वारा की गई पोस्टमॉर्टम में किसी की मौत घसीटने से तो किसी की लाठी-डंडों की पिटाई से हुई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किसी की भी मौत गोली लगने की वजह से नहीं हुई है. पोस्टमॉर्टम के बाद सभी शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया. सोमवार देर शाम और मंगलवार सुबह तक दो किसानों व चार अन्य का अंतिम संस्कार कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच किया गया. दो किसानों का अंतिम संस्कार बहराइच में मंगलवार को किया गया. बता दें कि अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए भारी संख्या में लोगों की भीड़ भी उमड़ी.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की क्या वजह?
1. लवप्रीत सिंह (किसान): घिसटने से हुई मौत. शरीर पर चोट के निशान मिले. शॉक और हेमरेज मौत की वजह.
2. गुरविंदर सिंह (किसान): दो चोट और घिसटने के निशान मिले. धारदार या नुकीली चीज से आई चोट. शॉक और हेमरेज.
3. दलजीत सिंह (किसान): शरीर पर कई जगह घिसटने के निशान. यही बनी मौत की वजह.
4. नछत्तर सिंह (किसान): मौत से पहले शॉक, हेमरेज और कोमा. घिसटने के भी मिले निशान.
5. शुभम मिश्रा (बीजेपी नेता): लाठी-डंडों से हुई पिटाई. शरीर पर दर्जनभर से ज्यादा जगहों पर चोट के निशान मिले.
6. हरिओम मिश्रा (अजय मिश्रा का ड्राइवर): लाठी-डंडों से पिटाई. शरीर पर कई जगह चोट के निशान. मौत से पहले शॉक और हेमरेज.
7. श्याम सुंदर (बीजेपी कार्यकर्ता): लाठी-डंडों से पिटाई. घिसटने से दर्जनभर से ज्यादा चोटें आईं.
8. रमन कश्यप (स्थानीय पत्रकार): शरीर पर पिटाई के गंभीर निशान. शॉक और हेमरेज से हुई मौत.

संबंधित पोस्ट

अब भाजपा भी ब्राह्मण राजनीति में कूदी

navsatta

माफियाओं से मुक्त कराई गई भूमि पर सस्‍ते मकान बनाएगी यूपी सरकार, गरीबों को मिलेंगे घर

navsatta

Maharashtra Floor Test: शिंदे सरकार ने जीता विश्वास मत, समर्थन में पड़े 164 वोट

navsatta

Leave a Comment