Navsatta
खास खबरराजनीति

महात्मा गांधी व शास्त्री जी ने भारतीय आमजन के मध्य नव चेतना का किया संचार : डाॅ. पांडेय

वृंदावन,नवसत्ता: आजादी का अमृत महोत्सव एवं चोरा-चोरी स्मृति वर्ष के अन्तर्गत आयोजित कार्यक्रम श्रृंखला में वृन्दावन शोध संस्थान द्वारा शनिवार को महात्मा गांधी तथा लालबहादुर शास्त्री जी की जयंती के अवसर पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर संस्थान के निदेशक डाॅ.अजय कुमार पांडेय ने कहा गांधी जी तथा शास्त्री जी ने भारतीय आमजन के मध्य नव चेतना का संचार किया।

देश भक्ति से अभिप्रेत इस चेतना का सुफल आज देश की सर्वांगीण उन्नति के रूप में समझा जा सकता है। उन्होंने कहा हमारे इन महापुरूषों ने जिस दूरदर्शिता के साथ भारतीय लोकमन के हृदय में जागरूकता का भाव उत्पन्न किया, उससे राष्ट्र न केवल उन्नति की ओर अग्रसर हुआ बल्कि आमजन के साथ देश प्रेम का समन्वय भी पूरी श्रद्धा के साथ जागृत हुआ। आचार्य वृंदावनबिहारी ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्रपिता के द्वारा जन-जन को जो अहिंसा का मूलमंत्र दिया गया तथा शास्त्री जी के द्वारा देश को एकता के सूत्र में बांधने के जय जवान और जय किसान के उद्घोष का ही परिणाम है कि आज देश सैन्य एवं कृषि जगत के साथ ही चहुंमुखी विकास के पथ पर अग्रसर है।

कार्यक्रम का संचालन डाॅ.ब्रजभूषण चतुर्वेदी ने किया। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ गांधी जी एवं शास्त्री जी के चित्रपट पर माल्यार्पण एवं पुष्पार्चन के साथ हुआ। इस दौरान डाॅ.राजेश शर्मा, करूणेश उपाध्याय, प्रगति शर्मा, ममता कुमारी, रेखारानी, जुगल शर्मा आदि ने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर रजत शुक्ला, श्रीकृष्ण गौतम, उमाशंकर पुरोहित, कृष्ण कुमार मिश्रा, ब्रजेश कुमार, करवेन्द्र सिंह, गोपाल शर्मा, शिवम शुक्ला, अशोक दीक्षित, रमेशचंद्र, विनोद झा, राजकुमार शुक्ला महेन्द्र सिंह एवं हेमंत आदि उपस्थित रहे।

संबंधित पोस्ट

दूसरे चरण में भी अपराधियों की भरमार, 33 प्रतिशत उम्मीदवार 5वीं से 12वीं पास

navsatta

आज का भारत सरदार पटेल के सपनों का भारत है : सीएम योगी

navsatta

डेंगू से पीड़ित मरीज भयभीत न हों तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचें : डा सुभाष चन्द्र मौर्य

navsatta

Leave a Comment