Navsatta
खास खबरचर्चा मेंराजनीतिराज्य

पीएम मोदी ने कहा, रक्षा उत्पादन से जुड़ी तकनीक का सेंटर बनेगा महाराजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय

अलीगढ़,नवसत्ता : विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी को बड़ी सौगात दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अलीगढ़ में महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज जिस विश्वविद्यालय का शिलान्यास हुआ है, वो आधुनिक शिक्षा का एक बड़ा केंद्र तो बनेगा ही, साथ ही देश में रक्षा से जुड़ी पढ़ाई, रक्षा उत्पादन से जुड़ी तकनीक और मैनपावर बनाने वाला सेंटर भी बनेगा।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, आज अलीगढ़ के लिए और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए बहुत बड़ा दिन है। आज राधाष्टमी है, जो आज के दिन को और भी पुनीत बनाता है। बृज भूमि के कण-कण में राधा ही राधा हैं। मैं पूरे देश को राधाष्टमी की हार्दिक बधाई देता हूं। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहीं।
पीएम मोदी ने कहा, आज जब देश अपनी आजादी के 75 वर्ष का पर्व मना रहा है, आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, तो इन कोशिशों को और गति दी गई है। भारत की आजादी में राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के योगदान को नमन करने का ये प्रयास ऐसा ही एक पावन अवसर है।

उन्होंने कहा कि महाराजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय आधुनिक शिक्षा का एक बड़ा केंद्र बनेगा, साथ ही देश में रक्षा से जुड़ी पढ़ाई, रक्षा उत्पादन से जुड़ी तकनीक और मैनपावर बनाने वाला सेंटर भी बनेगा। अलीगढ़ में ही रक्षा उत्पादन से जुड़ी डेढ़ दर्जन कंपनियां सैकड़ों करोड़ रुपये के निवेश से हजारों नए रोजगार बनाने वाली है। अलीगढ़ नोड में छोटे हथियार, आयुध, ड्रोन, एयरोस्पेस, मैटर कंपोनेंट्स, एंटी ड्रोन सिस्टम जैसे उत्पाद बन सकें, इसके लिए नए उद्योग लगाए जा रहे हैं।
पीएम मोदी ने स्वर्गीय कल्याण सिंह को याद करते हुए कहा, ‘मैं आज आप अनुपस्थिति बहुत ज्यादा महसूस कर रहा हूं। आज कल्याण सिंह जी हमारे साथ होते तो राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय और डिफेंस सेक्टर में बन रही अलीगढ़ की नई पहचान को देखकर बहुत खुश हुए होते। वो जहां भी होंगे हमको आशीर्वाद देंगे।’

डिफेंस कॉरिडोर और राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास के मौके पर पीएम मोदी ने कहा, आज देश के हर उस युवा हो जो बड़े सपने देख रहा है, जो बड़े लक्ष्य पाना चाहता है, उसे राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के बार में अवश्य जानना चाहिए, अवश्य पढऩा चाहिए।
उन्होंने कहा, राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के जीवन से हमें अदम्य इच्छाशक्ति अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने वाली जीवटता आज भी हमें सीखने को मिलती है। हमारी आजादी के आंदोलन में ऐसे कितने ही महान व्यक्तित्वों ने अपना सब कुछ खपा दिया।

पीएम मोदी ने कहा, ये देश का दुर्भाग्य रहा कि आजादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और राष्ट्र नायिकाओं की तपस्या से देश की अगली पीढिय़ों को परिचित ही नहीं कराया गया। उनकी गाथाओं को जानने से देश की कई पीढिय़ां वंचित रह गईं। 20वीं सदी की उन गलतियों को आज 21वीं सदी का भारत सुधार रहा है।
राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी सिर्फ भारत की आजादी के लिए ही नहीं लड़े थे, बल्कि उन्होंने भारत के भविष्य के निर्माण की नींव में भी सक्रिय योगदान दिया था। उन्होंने आपनी देश-विदेश की यात्राओं में मिले अनुभवों का उपयोग भारत की शिक्षा व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए किया था।

पीएम मोदी ने कहा, वृंदावन में आधुनिक टेक्निकल कॉलेज, उन्होंने अपने संसाधनों, अपनी पैतृक संपत्ति दान करके बनवाया था। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए भी बड़ी जमीन राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी ने ही दी थी।
अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार का निरंतर प्रयास है कि छोटी जोत वालों को ताकत दी जाए। डेढ़ गुना एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) हो, किसान क्रेडिट कार्ड का विस्तार हो, बीमा योजना में सुधार हो, 3 हजार रुपए की पेंशन की व्यवस्था हो, ऐसे अनेक फैसले छोटे किसानों को सशक्त कर रहे हैं।

संबंधित पोस्ट

ब्रह्मलीन महंत द्वय की स्मृति में संगीतमय श्रीराम कथा व सामयिक विषयों पर व्याख्यान

navsatta

एसीसी टिकरिया सीमेंट वर्क्स की तरफ से 21 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सौगात

navsatta

राहुल के आंगन में यूं ही नहीं उग आई ‘तुलसी’

Editor

Leave a Comment