Navsatta
Uncategorized

पीस पार्टी और निषाद पार्टी भी कांग्रेस के साथ, डॉ.अय्यूब मिले प्रियंका से

लखनऊ। सपा-बसपा गठबंधन के बीच लोकसभा सीटों के बंटवारे में अपने लिए गुंजाइश खत्म होती देख पीस पार्टी और निषाद पार्टी ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। शनिवार को पीस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. अय्यूब नई दिल्ली में कांग्रेस की नवनियुक्त महासिचव व पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी से मिले। उनके साथ महान दल के केशव देव मौर्य भी थे। इस मुलाकात में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डा. सलीम इकबाल शेरवानी व डा. संजय सिंह भी शामिल थे। मुलाकात के दरम्यान दोनों नेताओं की प्रियंका गांधी से क्या और किन मुद्दों पर बात हुई इस बारे में डा.अय्यूब ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। मगर पार्टी सूत्रों के अनुसार पीस पार्टी ने संतकबीर नगर, डुमरियागंज, श्रावस्ती सहित पूर्वी यूपी की कुल पांच लोकसभा सीटें कांग्रेस से मांगी हैं। डा. अय्यूब ने प्रियंका गांधी से निषाद पार्टी के लिए भी बात की है। डा. अय्यूब चाहते हैं कि पूर्वांचल की पांच-पांच सीटें पीस पार्टी व निषाद पार्टी को कांग्रेस दे। इस बाबत उन्होंने खुलकर प्रियंका गांधी से बात की और अपनी रणनीति भी बताई। मगर प्रियंका गांधी ने उन्हें इस बाबत कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया है। डा.अय्यूब की प्रिंयका के साथ पांच मिनट अलग से भी बात हुई। फिलहाल निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. संजय निषाद के बेटे प्रवीन निषाद गोरखपुर से इस वक्त लोकसभा सांसद हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा त्यागपत्र देने के बाद खाली हुई इस सीट पर हुए उपचुनाव में सपा ने प्रवीन निषाद को उम्मीदवार बनाया था और इस सीट पर पीस पार्टी के डा.अय्यूब ने भी अपनी पूरी ताकत झोंकी थी। मगर हाल ही में सपा-बसपा गठबंधन के बीच लोकसभा सीटों के बंटवारे के बाद पीस पार्टी व निषाद पार्टी दोनों को ही करारा झटका लगा। इसके बाद ही दोनों पार्टियों के नेताओं ने महान दल के केशवदेव मौर्य से बातचीत की और फिर प्रियंका से मुलाकात की योजना बनी। इसी योजना के तहत शुक्रवार को निषाद पार्टी के अध्यक्ष डा. संजय निषाद की कांग्रेस नेता डा. संजय सिंह से मुलाकात हुई थी। तेजी से बदलते सियासी घटनाक्रम के बीच रविवार को मुरादाबाद के रामलीला मैदान पर महान दल की रैली आयोजित हो रही है। जिसमें कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पश्चिम यूपी के प्रभारी ज्योतिर्रादित्य सिंधिया, कांग्रेस के प्रवक्ता राशिद अलवी, नसीमुद्दीन सिद्दीकी, सलीम इकबाल शेरवानी आदि शामिल हो सकते हैं। महान दल कांग्रेस के साथ मिलकर आंवला, एटा और फतेहपुर सीकरी की लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ख्वाहिशमंद है।

संबंधित पोस्ट

बोले गडकरी- मेरे पास कांग्रेस कार्यकर्ताओं का समर्थन, नहीं करूंगा आलोचना

Editor

Corona Vaccine: पुणे के सीरम इंस्टिट्यूट ने किया सबसे पहले वैक्सीन बनाने का दावा

Editor

कोरोना मौत पर गलत आंकड़े दे रही है योगी सरकार : प्रियंका

navsatta

Leave a Comment