Navsatta
चर्चा में

अयोध्या कूच पर संकटः महंत जनमेजयशरण के खिलाफ मुकदमा, विहिप-भाजपा पर साजिश का आरोप

अयोध्या,। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद की 21 फरवरी को अयोध्या कूच और राम मंदिर शिलान्यास के ऐलान पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। अयोध्या में जानकीघाट बड़ास्थान के महंत जन्मेजयशरण के खिलाफ अयोध्या कोतवाली में जानलेवा हमला एवं फायरिंग का मुकदमा दर्ज किया गया है। भाजपा के महानगर महामंत्री परमानंद मिश्र की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। हालांकि महंत ने मुकदमे को फर्जी और इसके पीछे विहिप-भाजपा की साजिश करार दिया है। उल्लेखनीय है कि राम की नगरी अयोध्या में शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद को इस आश्रम का समर्थन प्राप्त है। परमानंद ने लगाया हमले का आरोप पुलिस को दी गई तहरीर में परमानंद ने बताया है कि पांच फरवरी की शाम छह-सात बजे के बीच वे पैदल ही जानकीघाट मंदिर के सामने से गुजर रहे थे। इसी बीच जन्मेजयशरण चार अज्ञात सहयोगियों के साथ आए और उन्हें दौड़ाकर पकड़ लिया। आपाधापी के बीच मिश्र पुन: भागे। इसी दौरान उनपर फायर किया। महंत और भाजपा नेता की अदावत पुरानी है। भाजपा नेता का आरोप है कि महंत ने उनके आवास पर धावा बोलकर उनके बच्चों को कुएं में फेंक दिया था और आवास पर मौजूद लोगों को मार-पीट कर भगाने का प्रयास किया था। अयोध्या-प्रयागराज नेशनल हाईवे पर भीषण हादसा, पांच लोगों की मौत यह भी पढ़ें स्वरूपानंद के अयोध्या कूच से भाजपा घबराई महंत जन्मेजयशरण ने दूरभाष पर कहा कि स्वामी स्वरूपानंद के अयोध्या कूच की घोषणा से घबराई है और स्वामी स्वरूपानंद का समर्थन करने के लिए मुझे निशाना बना रही है। महंत ने बताया कि साजिश के लिए परमानंद को आगे किया गया है लेकिन यह बताया कि घटना जिस दिन की बताई जा रही है, उसदिन स्वामी स्वरूपानंद के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद के आने की वजह से उनके मंदिर पर खुफिया विभाग एवं मीडिया का अमला मौजूद था और इनमें से किसी ने ऐसी घटना नहीं देखी।

संबंधित पोस्ट

खेतों में पड़ने वाली दवा से नहीं,बेइमान कर्मचारियों की करतूत से मर रही हैं पक्षी विहार की मछलियां,नाले व खेतो के गंदे पानी से मछलियों का मरना खड़ा कर रहा है कई सवाल

navsatta

प्रवासी मजदूरों के साथ गांव गांव तक पहुंचा कोरोना का खतरा भी

Editor

प्रियंका गांधी का महिलाओं को संदेश, अपने अधिकारों के लिए एकजुट होना पड़ेगा

navsatta

Leave a Comment