Navsatta
Uncategorized

फिर बदले नितिन गडकरी के तेवर, नेहरू के बाद अब इंदिरा गांधी के हुए मुरीद

नितिन गडकरी के सुर आजकल बदले-बदले से नजर आ रहे हैं. कुछ दिन पहले उन्होंने पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू के भाषण की तारीफ की थी अब उन्होंने पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की तारीफ की है. नितिन गडकरी ने नागपुर स्थित स्वयं सेवी महिला संगठन के एक कार्यक्रम में इंदिरा गांधी की तारीफ कर राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर हलचल मचा दी. नितिन गडकरी ने पूर्व पीएम और कांग्रेस की बड़ी लीडर रहीं इंदिरा गांधी को उनके वक्त के कई मर्द नेताओं से बेहतर करार दिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की ख़बर के अनुसार, गडकरी ने कहा कि इस देश को इंदिरा गांधी जैसी नेता भी मिलीं. उन्होंने उनकी तारीफों के पुल बांधते हुए कहा कि वह अपने वक्त के तमाम दिग्गज नेताओं से बेहतर थीं. पढ़ें- राजस्थान: सरकार बनते ही कांग्रेस सरकार में धांधली ! कर्जमाफी की लिस्ट में कर्ज न लेने वालों के भी नाम दरअसल, नितिन गडकरी ने इंदिरा की ताकत का जिक्र महिला आरक्षण के संबंध में किया.

उन्होंने सवाल भरे लहजे में कहा, क्या इंदिरा गांधी ने कभी आरक्षण का सहारा लिया? बता दें कि इससे पहले गडकरी पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू की भी खूब तारीफ कर चुके हैं. यह बयान उनका पार्टी लाइन के विपरीत बताया जा रहा है. गडकरी ने कुछ दिन पहले खुफिया विभाग के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा था कि पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरु ने कहा था कि सहिष्णुता भारत की सबसे बड़ी पूंजी है.

गडकरी ने कहा था कि पूर्व पीएम ने कहा था कि भारत एक देश नहीं बल्कि आबादी है. अगर हम किसी समस्या का हल नहीं दे सकते तो हमें समस्या का हिस्सा भी नहीं बनना चाहिए. पढ़ें- ‘मौके के इंतजार में हैं नितिन गडकरी, 150 सीटों पर BJP रुकी तो मोदी की जगह होंगे प्रधानमंत्री’ गडकरी ने असहिष्णुता को लेकर कहा था कि सहनशीलता और विविधता में एकता भारतीय संस्कृति का महत्वपूर्ण पहलू है. वह इंटेलीजेंस ब्यूरो के 31वें एंडोमेंट लेक्चर में बोल रहे थे.

संबंधित पोस्ट

भारत ने पाक से कहा- राजनयिक रिश्तों पर फैसले की करें समीक्षा, जम्मू कश्मीर है आंतरिक मामला

Editor

सिंधु ने स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस में उड़ान भरकर रचा नया इतिहास

Editor

सरकारी लैब हो या प्राइवेट, कोरोना टेस्ट फ्री में हो: सुप्रीम कोर्ट

Editor

Leave a Comment