Navsatta
खास खबर घर संसार

मुंहासे हों या सनबर्न, गर्मियों में बहुत असरदार हैं ये उपाय

गर्मियों में त्वचा काफी नाजुक और संवेदनशील हो जाती है। ऐसे में त्वचा के प्रति थोड़ी-सी भी लापरवाही आपकी सुंदरता को बिगाड़ सकती है। इस मौसम में होने वाली आम समस् या है- सनबर्न, टैनिंग, डिहाइड्रेशन आदि।

त्वचा को इससे कैसे बचाएं, बता रहे हैं स्किन अलाइव क्लीनिक्स के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. चिरंजीव छाबड़ा: न होने दें नमी की कमी लगातार पसीना आने से हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है। इसकी पूर्ति के लिए अगर पर्याप्त मात्रा में लिक्विड न लें, तो त्वचा रूखी और बेजान हो जाती है। होंठ फटने लगते हैं। इससे बचने के लिए खूब सारा पानी पिएं। तरबूज, खीरा जैसे फल शरीर और त्वचा के लिए बेहद उपयुक्त होते हैं, क्योंकि इनमें खूब सारा पानी होता है। आपकी त्वचा ज्यादा रूखी है, तो आप डीप हाइड्रेटिंग ट्रीटमेंट ले सकती हैं, जैसे- हाइड्रेटिंग इलेक्ट्रोपोरेशन थेरेपी और ऑक्सीजन थेरेपी।

गर्मियों की धूप ज्यादा तीखी होती है। सूरज के सीधे संपर्क में आने से त्वचा छिल जाती है, जिससे त्वचा पर लाल चकत्ते और निशान उभर जाते हैं, जिनमें जलन महसूस होती है। इससे बचने के लिए, जहां तक हो सके धूप के सीधे संपर्क में आने से बचें। इसके साथ ही त्वचा पर नियमित रूप से सनस्क्रीन लगाना न भूलें। अपने चेहरे, गर्दन और बांहों पर बाहर निकलने से 20 मिनट पहले सनब्लॉक क्रीम लगाएं। त्वचा की सुरक्षा के लिए हर चार घंटे के अंतराल पर सनस्क्रीन लोशन लगाएं। अगर आपकी त्वचा ज्यादा संवेदनशील है, तो दिन के समय में शरीर को जहां तक हो सके ढंककर ही बाहर निकलें और कॉटन के कपडे पहनें।

इन दिनों एलोवेरा जेल का फेस पैक इस्तेमाल करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।टमाटर भी चेहरे और हाथों पर रगड़ सकती हैं। अगर त्वचा पर टैनिंग हो, तो हर मुंहासे हों या सनबर्न, गर्मियों में बहुत असरदार हैं ये उपाय गर्मियों में त्वचा काफी नाजुक और संवेदनशील हो जाती है। ऐसे में त्वचा के प्रति थोड़ी-सी भी लापरवाही आपकी सुंदरता को बिगाड़ सकती है। इस मौसम में होने वाली आम समस् या है- सनबर्न, टैनिंग, डिहाइड्रेशन आदि।

त्वचा को इससे कैसे बचाएं, बता रहे हैं स्किन अलाइव क्लीनिक्स के डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. चिरंजीव छाबड़ा: न होने दें नमी की कमी लगातार पसीना आने से हमारे शरीर में पानी की कमी होने लगती है। इसकी पूर्ति के लिए अगर पर्याप्त मात्रा में लिक्विड न लें, तो त्वचा रूखी और बेजान हो जाती है। होंठ फटने लगते हैं। इससे बचने के लिए खूब सारा पानी पिएं। तरबूज, खीरा जैसे फल शरीर और त्वचा के लिए बेहद उपयुक्त होते हैं, क्योंकि इनमें खूब सारा पानी होता है। आपकी त्वचा ज्यादा रूखी है, तो आप डीप हाइड्रेटिंग ट्रीटमेंट ले सकती हैं, जैसे- हाइड्रेटिंग इलेक्ट्रोपोरेशन थेरेपी और ऑक्सीजन थेरेपी।गर्मियों की धूप ज्यादा तीखी होती है।

सूरज के सीधे संपर्क में आने से त्वचा छिल जाती है, जिससे त्वचा पर लाल चकत्ते और निशान उभर जाते हैं, जिनमें जलन महसूस होती है। इससे बचने के लिए, जहां तक हो सके धूप के सीधे संपर्क में आने से बचें। इसके साथ ही त्वचा पर नियमित रूप से सनस्क्रीन लगाना न भूलें। अपने चेहरे, गर्दन और बांहों पर बाहर निकलने से 20 मिनट पहले सनब्लॉक क्रीम लगाएं। त्वचा की सुरक्षा के लिए हर चार घंटे के अंतराल पर सनस्क्रीन लोशन लगाएं।

संबंधित पोस्ट

इटावा के एसएसपी ऑफिस में शराब पार्टी, हेड कांस्टेबल निलंबित

navsatta

घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट व किसानों को फ्री बिजली देने का अखिलेश ने किया वादा

navsatta

रामायण कॉनक्लेव का राष्ट्रपति ने किया उद्घाटन, कहा- राम सबके हैं और राम सब में हैं

navsatta

Leave a Comment